होशंगाबाद,जेएनएन। कोरोना संक्रमण के दौर में मध्य प्रदेश में एक दुल्हन अपने पिता के घर के बजाय क्वारंटाइन सेंटर से ससुराल के लिए विदा हुई। होशंगाबाद के पिपरिया में बनाए गए इस सेंटर से सोमवार को जब दुल्हन रेखा साहू ससुराल के लिए विदा हुई तो इस पल के साक्षी बने प्रशासनिक अधिकारियों व अन्य लोगों की आंखें नम हो गई। रेखा साहू अपनी मां व भाभी के साथ यहां 10 दिन तक रही थीं। प्रशासनिक और समाजसेवियों ने मिलकर पहले से तय रेखा का विवाह 23 मई को यहीं विधि-विधान से संपन्न करवाया था।

कोरोना संक्रमण के संदेह के कारण कर दिया गया था क्वारंटाइन

कोरोना के इस दौर ने लोगों को क्या-क्या नहीं दिखाया, इसकी बानगी यह शादी भी रही। दरअसल, रेखा साहू अपनी भाभी के साथ पीथमपुर से पिपरिया आई तो उन लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया। रेखा साहू ने बताया कि मुझे यहां कोरोना संक्रमण के संदेह के कारण 15 मई को संस्थागत क्वारंटाइन किया गया था। जब मैंने अपनी आर्थिक स्थिति कमजोर होने और विवाह की तिथि पूर्व से तय होने की बात एसडीएम मदनसिंह रघुवंशी को बताई तो उन्होंने मेरा विवाह तय मुहूर्त 23 मई को शाम सात बजे संपन्न करवाया। वर पक्ष की ओर से पूरा सहयोग किया गया। यहां क्वारंटाइन सेंटर में मुझे घर जैसा माहौल मिला, जिसे मैं जीवनभर नहीं भूल पाऊंगी। सभी प्रशासनिक अधिकारियों ने जिस सम्मान व स्नेह के साथ विदा किया है, ऐसा मेरे घर पर भी नहीं होता। ये कभी कल्पना नहीं कि थी कि बीमारी से लड़ने का इतना अच्छा फल मिलेगा। रायसेन जिले के औबेल्दुल्लागंज निवासी दूल्हा मनीष साहू व उनके परिवार के सदस्य रेखा को विदा कराके ले गए।

पिपरिया के एसडीएम मदन सिंह रघुवंशी ने बताया कि रेखा की उसके पति के साथ सोमवार को विदाई कर दी गई। क्वारंटाइन सेंटर से रेखा सीधे अपने ससुराल चली गई। सबने नम आंखों से बिटिया को विदाई दी है।

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस