तिरुवनंतपुरम, प्रेट्र। सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश को लेकर केरल में विरोध जारी है। इसी क्रम में सोमवार को कोझिकोड के कोयीलैंडी में एक भाजपा कार्यकर्ता के घर पर देसी बम फेंका गया। वहीं, कन्नूर जिले के थल्लस्सेरी में 18 देसी बम बरामद किए गए।

पुलिस ने बताया कि भाजपा कार्यकर्ता के घर पर देसी बम के हमले में खिड़कियों के शीशे टूट गए, लेकिन कोई घायल नहीं हुआ। वहीं, कन्नूर जिले में बरामद देसी बम बेहद शक्तिशाली हैं और उन्हें हाल ही में बनाया गया है। इस बीच, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पीएस श्रीधरन पिल्लई ने दो जनवरी की न्यायिक जांच कराने की मांग की है, जिसमें 10 से 50 आयुवर्ग की दो महिलाओं ने सबरीमाला मंदिर में जाकर भगवान अयप्पा के दर्शन किए थे।

अब तक 6,914 गिरफ्तार
पुलिस ने बताया कि हिंसा की हालिया घटनाओं में गिरफ्तार लोगों की संख्या 6,914 हो गई है। इस सिलसिले में 2,187 मामले दर्ज किए गए हैं। जबकि 5,960 लोगों को जमानत पर रिहा कर दिया गया है और 954 लोगों को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

निजी संपत्तियों की सुरक्षा के लिए अध्यादेश लाएगी केरल सरकार
मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सोमवार को कहा कि हिंसा में शामिल रहे लोगों से राज्य सरकार सख्ती से निपटेगी और धमकियों के आगे नहीं झुकेगी। उन्होंने कहा कि हड़ताल के नाम पर हिंसा भड़काने वाले संघ परिवार के कार्यकर्ताओं के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश मंत्रिमंडल ने हड़ताल के दौरान निजी संपत्तियों को बचाने के लिए 'केरल प्रिवेंशन ऑफ डैमेज टू प्राइवेट प्रॉपर्टी एक्ट' पर अध्यादेश लाने का फैसला किया है। साथ ही उन्होंने स्पष्ट किया कि हड़तालों पर नियंत्रण के लिए सरकार का कोई विधेयक लाने का इरादा नहीं है।

केरल हाई कोर्ट ने कहा, हड़ताल से पहले देना होगा सात दिन का नोटिस
कोच्चि : केरल हाई कोर्ट ने सोमवार को कहा कि बिना सात दिन का पूर्व नोटिस दिए राज्य में हड़ताल नहीं की जा सकेगी। हाई कोर्ट ने यह टिप्पणी 'केरल चैंबर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री' और त्रिशूर के गैर सरकारी संगठन 'मलयाला वेदी अगेंस्ट हड़ताल' की याचिका पर सुनवाई के दौरान की। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस ऋषिकेश रॉय और जस्टिस एके जयशंकरन नांबियार की पीठ ने कहा कि अगर पूर्व नोटिस न दिया जाए तो लोग हालात से निपटने के लिए अदालत या सरकार से संपर्क कर सकते हैं। अदालत ने कहा कि लोगों को विरोध करने का अधिकार है, लेकिन इससे नागरिकों के मौलिक अधिकार प्रभावित नहीं होने चाहिए।

संसद भवन परिसर में भाजपा का विरोध प्रदर्शन
नई दिल्ली : केरल में पार्टी नेताओं को निशाना बनाए जाने की घटनाओं के खिलाफ भाजपा सांसदों ने सोमवार को संसद भवन परिसर में गांधी प्रतिमा के निकट विरोध प्रदर्शन किया। निशाना बनाए गए भाजपा नेताओं में राज्यसभा सदस्य वी. मुरलीधरन भी शामिल हैं। भूपेंद्र यादव और शोभा करंदजले समेत विरोध प्रदर्शन कर रहे भाजपा सांसद हाथों में प्लकार्ड लिए हुए थे।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस