नई दिल्‍ली (एएनआई)। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता दिग्विजय सिंह ने कहा है कि देश की जनता केंद्र में मौजूद भाजपा सरकार से बेहद नाराज है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने आज तक देश की जनता से किए किसी भी वादे को पूरा नहीं किया है। फिर चाहे वह कालेधन को वापस लाने का मुद्दा हो या फिर रोजगार दिलाने का या फिर अर्थव्‍यवस्‍था में सुधार का या फिर देश में पूंजी निवेश बढ़ाने का। सभी जगहों पर केंद्र सरकार पूरी तरह से विफल रही है। वहीं उनपर निशाना साधते हुए भाजपा के प्रवक्‍ता सुधांशु त्रिवेदी का कहना है कि उन्‍हें कोई भी गंभीरता से नहीं लेता है। उन्‍होंने ही मुंबई हमले के दौरान कहा था कि यह हमला आरएसएस ने करवाया है।

भाजपा पर सांप्रदायिकता फैलाने का आरोप

उन्‍होंने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया कि वह देश में सांप्रदायिकता फैलाने का काम कर रही है। भाजपा को आड़े हाथों लेते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा केवल एक ही एजेंडा है और वह है सांप्रदायिकता का माहौल पैदा करना। उन्‍होंने मीडिया से बात करते हुए यहां तक कह डाला कि केंद्र में दोबारा सरकार बनाने के मकसद से सरकार देश को पाकिस्‍तान के साथ युद्ध में झोंक सकती है।

सरकार ने अब तक बोला झूठ

एक निजी कार्यक्रम में हिस्‍सा लेने जोधपुर पहुंचे दिग्विजय सिंह ने ने यह भी कहा कि भाजपा की सरकार ने आज तक न तो देश में मौजूद बेरोजगारों के लिए रोजगार के अवसर ही बढ़ाए हैं और न ही देश की गरीब जनता के लिए कुछ किया है। उनका कहना था कि देश में जबसे भाजपा की सरकार केंद्र में बनी है तब से लेकर अब तक निवेश में भी कोई इजाफा नहीं हुआ है। कांग्रेस नेता ने कहा कि इस दौरान अर्थव्‍यवस्‍था में लगातार गिरावट दर्ज की गई है।

बसपा के गठबंधन में शामिल होने से खुश

बहुजन समाज पार्टी से कांग्रेस के गठबंधन के मुद्दे पर उन्‍होंने कहा कि वह इस बात से काफी खुश हैं कि उन्‍होंने इसको स्‍वीकार कर लिया है। उनका कहना था कि कांग्रेस के बिना भाजपा को रोकपाना किसी के लिए भी मुमकिन नहीं है। गौरतलब है कि शनिवार को बहुजन समाज पार्टी ने इस बात का एलान किया था कि वह कांग्रेस और समाजवादी पार्टी के गठबंधन के साथ चलने को तैयार हैं। खुद पार्टी की सुप्रिमो मायावती ने इसका एलान करते हुए यहां तक कहा था कि वह लोकतंत्र की रक्षा करने के लिए इस गठबंधन के साथ जाने को तैयार हैं।

ईवीएम के मुद्दे पर आयोग को कोसा

दिग्विजय सिंह ने कहा कि ईवीएम को लेकर किए गए सरकार और चुनाव आयोग के दावे सही नहीं है। उन्‍होंने आयोग की उस फैसले के लिए भी चुटकी ली जिसमें आयोग ने ईवीएम को टेंपर करने के लिए किसी भी विशेषण को आकर उसे हैक करने की खुली चुनौती दी थी। उन्‍होंने कहा कि ईवीएम को लेकर दी गई आयोग की यह चुनौती अधूरी है। ईवीएम को आसानी से हैक कर परिणाम को अपने पक्ष में बदला जा सकता है।

यह भी पढ़ें: रूस, सीरिया और ईरान की US को चेतावनी, कहा- दोबारा हमले के होंगे गंभीर परिणाम                           
यह भी पढ़ें: तालिबान और अफगानिस्‍तान के बीच शांति वार्ता में मध्‍यस्‍थता को रूस तैयार                           

यह भी पढ़ें: उत्‍तर कोरिया की अमेरिका काे धमकी, कहा- मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार                           

यह भी पढ़ें: कुलभूषण जाधव के मुद्दे पर पाक से खफा भारत ने रद की सभी द्विपक्षीय वार्ता                           
 

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप