नई दिल्ली, प्रेट्र। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार चुनने से पहले भाजपा इस मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों के साथ चर्चा करेगी। शाह ने हालांकि इस सवाल को टाल दिया कि क्या उनकी पार्टी विपक्ष के साथ आम सहमति बनाने का प्रयास करेगी?

एक विशेष भेंट में भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि आम सहमति शब्द का प्रयोग कई तरीकों से किया जाता है। लेकिन, इस मुद्दे पर हम हर किसी के साथ चर्चा करेंगे। विपक्षी दलों से भी बात की जाएगी।

यह भी पढ़ें: तेदेपा को वोट नहीं देने वाले हों शर्मिदा - नायडू

हालांकि, शाह ने संभावित उम्मीदवारों के बारे में चर्चा करने से यह कहकर मना कर दिया कि अभी इस पर कोई फैसला नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि हम सबसे पहले इस सिलसिले में राजग के अपने सहयोगी दलों से चर्चा करेंगे। फिर विपक्षी दलों के साथ विचार-विमर्श किया जाएगा।

यह भी पढ़ें: डॉक्यूमेंट्री फिल्म 'द राइज ऑफ केजरीवाल' पर संकट के बादल

कांग्रेस, तृणमूल और वाम दलों ने कहा है कि यदि भाजपा ने किसी हिंदूवादी छवि वाले उम्मीदवार को अपना उम्मीदवार बनाया, तो विपक्षी दल धर्मनिरपेक्ष छवि के उम्मीदवार को मैदान में उतारेंगे। हालांकि, इस बात की उम्मीद कम ही है कि सत्तारूढ़ गठबंधन विपक्ष के हिसाब से चलेगा, क्योंकि अपना उम्मीदवार जिताने के लिए उसके पास पर्याप्त बहुमत है।

डरे हुए हैं काला धन रखने वाले

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा है कि मोदी सरकार में काला धन रखने वाले लोग डरे हुए हैं। एक विशेष भेंट में उन्होंने दावा किया कि सरकार ने अपने तीन साल के शासन में 1.37 लाख करोड़ रुपये काले धन का पता लगाया है। शाह के मुताबिक, सिर्फ पिछले एक साल के दौरान रिकार्ड 99 लाख नए पैन कार्ड जारी किए गए।

Posted By: Ravindra Pratap Sing

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस