जम्मू (जेएनएन)। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के जम्मू दौरे पर पार्टी विधायकों ने सहयोगी पार्टी पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के काम करने के तरीके पर अंगुली उठाई है। इस पर शाह ने पार्टी के नेताओं से पीडीपी से गठजोड़ को लेकर राय मांगी है। शाह ने पार्टी नेताओं से पूछा कि आप बताएं कि पीडीपी से गठजोड़ को लेकर आप क्या चाहते हैं। कहा कि आप अपना फैसला सुनाएं ताकि पार्टी इस दिशा में आगे की कार्रवाई कर सके।

इससे पहले बैठक में शाह ने पार्टी के मंत्रियों और विधायकों से दो टूक कहा है कि अगर वे बचे रहना चाहते हैं तो जमीन से जुड़े रहें। शाह ने मंत्रियों को स्पष्ट शब्दों में कहा कि वे अपने प्रदर्शन को बेहतर बनाकर राज्य के लोगों और पार्टी कार्यकर्ताओं की उम्मीदों पर खरा उतरें। शाह ने रविवार को अपने दौरे के दूसरे दिन रात सवा दस बजे तक पार्टी के सांसदों, मंत्रियों व विधायकों से सरकार के कामकाज व मंत्रियों के प्रदर्शन पर विचार विमर्श किया। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार अमित शाह राज्य सरकार के प्रदर्शन से खुश नहीं हैं।

ऐसे में बैठकों का सिलसिला समेटते हुए अमित शाह ने मंत्रियों, विधायकों से उनके कामकाज की रिपोर्ट, चुनौतियों व शिकायतों के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कहा कि न सिर्फ कुछ मंत्रियों बल्कि कुछ विधायकों के काम करने के तरीके से पार्टी कार्यकर्ता खुश नहीं हैं। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हाईकमान को प्रदेश भाजपा के कुछ वरिष्ठ नेताओं के काम करने के तरीके के बारे में सब कुछ पता है। यह संयुक्त बैठक रात करीब पौने नो बजे शुरू हुई, जिसमें कुछ विधायकों ने सहयोगी पार्टी पीडीपी के काम करने के तरीके पर भी अंगुली उठाई।

बैठक खत्म होने के कुछ देर बाद तक पार्टी नेता बैठक स्थल पर मौजूद रहे। उच्च पदस्थ सूत्रों के अनुसार राष्ट्रीय अध्यक्ष के बैठक में कड़े तेवर दिखाने के बाद कुछ मंत्रियों के चेहरे उतर गए हैं। संभावना जताई जा रही है कि प्रदर्शन के आधार पर भाजपा के दो या तीन मंत्री बदले जा सकते हैं।

गौरतलब है कि पहले अमित शाह को भाजपा के विधायकों व मंत्रियों से अलग-अलग बैठक करनी थी। बाद में समय को देखते हुए संयुक्तबैठक करने का फैसला किया गया। अमित शाह अपना 48 घंटे का जम्मू दौरा समेट कर सोमवार सुबह दिल्ली रवाना हो जाएंगे।

महबूबा मुफ्ती से मिले राम माधव

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने रविवार को श्रीनगर में मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती से भेंट की। सूत्रों के अनुसार, मुख्यमंत्री के आवास पर हुई क रीब 35 मिनट की बैठक में कश्मीर के मौजूदासुरक्षा हालात, सरकार के कामकाज व सत्ताधारी पार्टियों के समन्वय पर चर्चा हुई। बैठक के लिए राम माधव दोपहर 2.25 बजे मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे। वह करीब तीन बजे बैठक में हिस्सा लेने के बाद श्रीनगर से दिल्ली रवाना हो गए। सोमवार को इस बैठक के बारे में वह राष्ट्रीय अध्यक्ष को जानकारी देंगे।

राम माधव से महबूबा मुफ्ती की बैठक उस समय हुई है, जब पीडीपी एमएलसी चुनाव में हुए नुकसान की भरपाई करने की मांग कर रही है। सूत्रों के अनुसार पीडीपी मंत्रिमंडल फेरबदल में अब अपना स्पीकर बनाना चाहती है। पीडीपी चाहती है कि हालात सुधारने के लिए पत्थरबाजों का पुनर्वास किया जाए।

Posted By: Kamal Verma

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप