नई दिल्ली। संसद के मानसून सत्र के खत्म होने के बाद अब कांग्रेस और भाजपा में बयानबाजी की जंग और तेज हो गई है। भाजपा की लोकतंत्र बचाओ मार्च के खिलाफत में आज कांग्रेस ने प्रेसवार्ता कर अपना विरोध जताया है। प्रेसवार्ता में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुमाल नबी आजाद ने कहा कि भाजपा सत्ता के नशे में धुत है।

इस संसद सत्र में भाजपा ने साबित कर दिया है कि वो आम सहमति और लोकतंत्र में विश्वास नहीं रखती। आजाद ने कहा कि नशे के कई रूप होते हैं... भाजपा सत्ता के नशे में बुरी तरह से चूर है.. जिसका कोई इलाज नहीं है। जीएसटी बिल की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा कि आर्थिक विकास दर इस देश की नींव है, यह एक या दो बिल पर निर्भर नहीं करती।

इससे पहले संसद के मॉनसून सत्र के पूरी तरह से बर्बाद हो जाने के बाद एनडीए के सांसदों ने विजयपथ से राष्ट्रपति भवन तक कल लोकतंत्र बचाओ मार्च निकाला था। इस मॉर्च के माध्यम से भाजपा जहां कांग्रेस पर वार कर रही थी, वहीं वह कांग्रेस के मत्थे रणनीतिक रूप से यह दोष मढ़ रही है कि उसने संसद सत्र को बर्बाद कर दिया।

Posted By: Gunateet Ojha

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप