तिरुवनंतपुरम एएनआइ। केरल के सीपीआइ एम नेता कोडियारी बालाकृष्णान के बेटे बिनेश कोडियारी की मन लॉन्ड्रिंग मामले में कल प्रवर्तन निदेशालय (ED) पीएमएलए कोर्ट में पेशी हुई थी। अब अदालत ने 2 नवंबर तक उनकी ईडी हिरासत को मंजूर कर दिया है। आगे की पूछताछ और जांच जारी है। बता दें कि कर्नाटक प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने 29 अक्टूबर को धन शोधन के मामले में बिनेश कोडियारी को गिरफ्तार किया था। 

दिनेश ने ड्रग्स पेडलर के बैंक खातों में जमा किया बेहिसाब धन

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, दिनेश कोडियारी ने बेहिसाब धन की बड़ी राशि एक ड्रग पेडलर के बैंक खातों में जमा की थी। इस दौरान पिछले दिनों बिनेश कोडियारी को मादक पदार्थ मामले में गुरुवार को ईडी ने गिरफ्तार भी किया था, जिसके बाद स्थानीय अदालत ने उन्हें 2 नवंबर तक प्रवर्तन निदेशालय की हिरासत में भेज दिया है। ईडी ने बताया कि ड्रग फंडिंग में ठोस जवाब नहीं देने में पर उन्हें गिरफ्तार किया गया था। 

दूसरी बार ईडी कार्यालय बुलाया गया

प्रवर्तन निदेशालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि बिनेश कोडियारी को दूसरी बार बेंगलुरु में ईडी कार्यालय में बुलाया गया था। इस दौरान उनसे 3 घंटे की पूछताछ़ की गई थी। इस दौरान अधिकारियों को ड्रग रैकेट  फंडिंग के बारे में ठोस जवाब नहीं मिला। इसलिए उन्हें गिरफ्तार किया गया। 

दिनेश कोडियारी के नाम ऐसे आया सामने

जानकारी के लिए बता दें कि दिनेश कोडियारी की मुश्किले तब बढ़ना शुरू हुई थी, जब बेंगलुरु ड्रग रैकेट के आरोपी अनूप मोहम्मद ने नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो  (NCB)को दिए एक बयान में उनका उजागर किया था।  एनसीबी को बताया  गया कि कि बालकृष्णन के दूसरे बेटे बिनेश कोडियरी ने उनकी मदद की थी। इसके बाद जांच में सामने आया कि मोहम्मद की कॉल लिस्ट में उनके नाम भी थी। गौरतलब है कि सोना तस्करी में आतंकी कनेक्शन की बात सामने आने के बाद इसकी जांच राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआइए) के साथ ही कई अन्य केंद्रीय एजेंसियां भी कर रही हैं।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस