नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली स्थित लाल किला प्रांगण में भगवद्गीता के 5151वें वर्ष में प्रवेश करने के उत्सव में आज विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर समेत कई बड़े नेता और संत शामिल हुए। इस दोरान सुषमा ने सरकार से गीता को राष्ट्रीय ग्रंथ घोषित करने की मांग की। उन्होंने कहा कि वह उत्सव में विदेश मंत्री के तौर पर नहीं बल्कि गीता के अनुसार जीवन जीने वाली साधक के रूप में शामिल हुई हैं।

अपने संबोधन में उन्होंने कार्यक्रम के दौरान विदेश मंत्री ने कहा कि वह गीता की वजह से ही मंत्री पद की चुनौतियों का सामना कर पा रही हैं। उन्होंने कहा कि पीएम मोदी ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा को गीता भेंट कर इसे अनौपचारिक रूप से राष्ट्रीय ग्रंथ का दर्जा दे दिया है। इस कार्यक्रम में शामिल हरियाणा के सीएम मनोहर खट्टर ने कहा कि अगले साल भगवद गीता के 5151 साल पूरे होने पर हरियाणा में विराट आयोजन किया जाएगा।

पढ़ें: विश्व स्तर पर सहयोग की दिशा में तेजी से बढ़ रहा है भारत: सुषमा

Edited By: Kamal Verma