नई दिल्‍ली [विवेक शुक्ला]। Anti Aging Foods: आयुर्वेद में कामना की गई है जीवेत: शरद: शतम्। यह सौ साल तक जीने की चाहत भी है, आशीर्वाद भी। सच भी है सभी लंबी आयु चाहते हैं मगर उम्र के साथ आने वाली बीमारियां और कमजोरियां छीन लेती हैं इसका आकर्षण। उम्र बढ़ने के साथ शारीरिक परिवर्तन होना स्वाभाविक है। प्रकृति द्वारा प्रदत्त कुछ आहार उम्र बढ़ने के लक्षण अर्थात एजिंग की प्रक्रिया को धीमा कर सकते हैं। स्वास्थ्य और सौंदर्य दोनों की दृष्टि से यह महत्वपूर्ण हैं..

कैंसर से लड़े ब्रोकोली (Broccoli fought with cancer)

इसमें बीटा कैरोटीन और आइसोथियोसायनेट नामक पोषक तत्व पाए जाते हैं। इस कारण ब्रोकोली कैंसर की रोकथाम में सहायक है और यह एंटीएजिंग की प्रक्रिया में भी सहायक है।

इम्यूनिटी बढ़ाएं नींबू-संतरा (Increase immunity lemon-orange)

विटामिन सी युक्त फल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाते हैं। एलर्जी से बचाव तथा त्वचा में कसाव लाने के लिए संतरा, मौसमी, नींबू आदि विटामिन सी के उत्तम स्रोत हैं। इनमें बायोफ्लेवोनॉइड और लाइमोनीन भी पाया जाता है। एंटीऑक्सीडेंट्स की उपस्थिति के कारण ये कैंसर उत्पन्न करने वाले तत्वों से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं।

हीमोग्लोबिन का साथी अनार (Pomegranate Help Increase Haemoglobin)

एनीमिया अर्थात शरीर में खून की कमी होने पर रक्त में हीमोग्लोबिन के स्तर को बढ़ाने में अनार सहायक है। इसे खाने से त्वचा स्वस्थ रहती है। इसमें पाए पाए जाने वाले सूक्ष्म पोषक तत्व शरीर के आंतरिक अंगों को सशक्त बनाए रखते हैं।

त्वचा कसे अंकुरित अनाज

बढ़ती उम्र की प्रक्रिया की गति को कम करने के लिए अंकुरित अनाज एक अच्छा विकल्प है। अंकुरित अनाज के सेवन से रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि होती है और कई प्रकार के रोगों से बचाव होता है। स्प्राउट के सेवन से त्वचा में कसाव आता है।

गुणों की खान है ग्रीन टी (Green tea is a mine of qualities)

ग्रीन टी एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होती है। यह कई प्रकार से लाभ पहुंचाती है। वसा पर प्रभाव डालने के कारण इससे वजन घटता है, बालों का झड़ना एजिंग प्रक्रिया का सूचक है। ग्रीन टी के प्रयोग से बालों का गिरना कम होता है। ग्रीन टी के इस्तेमाल से ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। यह कोलेस्ट्रॉल को भी संतुलित अवस्था में रखने में सहायक है। ग्रीन टी ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करन में भी सहायक है।

पेट साफ रखे ओट्स (keep it cleaner oats)

स्वास्थ्य की दृष्टि से इसमें पर्याप्त मात्रा में फाइबर पाया जाता है। इस कारण जो लोग कब्ज की समस्या से ग्रस्त हैं, उनकी समस्या दूर होती है और उनका पाचन तंत्र सही रहता है। इसमें बीटाग्लूकेन्स की उपस्थिति कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने में सहायक है।

हाई ब्लडप्रेशर मिटाए लहसुन (Garlic for High Blood Pressure)

लहसुन गुणों की खान है। इसके सेवन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। इस कारण व्यक्ति का कई रोगों से बचाव होता है। लहसुन हाई ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में भी सहायक है। यह एंटीएजिंग प्रक्रिया में भी सहायक है।

दिल-दिमाग के लिए नट्स (Nuts for heart)

हर प्रकार से स्वास्थ्य तथा सौंदर्य दोनों में वृद्धि करते हैं। अखरोट में उपस्थित विटामिन ई टोकोफेरल के रूप में पाया जाता है, जो हृदय के लिए अत्यंत लाभप्रद है। बादाम मस्तिष्क की क्षमता को बढ़ाने में सहायक है और यह आंखों की रोशनी के लिए भी लाभप्रद है। मूंगफली में विटामिन बी, विटामिन ई, मैंग्नीज पाईं जाती है।

यहां जानें:

सरसों के साग में हैं अद्भुत गुण, कैंसर सहित इन रोगों से लड़ने में है मददगार

भोजन में शामिल करें ये मोटा अनाज, बीमारियों को दूर करने के साथ शरीर भी रखता है ठंडा

Posted By: Sanjay Pokhriyal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप