कोलार (गुजरात), एएनआई। एक 45 वर्षीय टेक्निकल एक्सपर्ट ने कथित तौर पर अपनी दो साल की बेटी की हत्या कर दी। उसने दावा किया कि उसके पास अपनी बेटी को खिलाने के लिए पैसे नहीं थे। बेंगलुरू पुलिस नेयह जानकारी दी।

आत्महत्या की कोशिश में असफल रहा

पुलिस के मुताबिक, अपनी बेटी की हत्या करने के बाद टेक्निकल एक्सपर्ट ने डील में डूबने की कोशिश कर आत्महत्या का प्रयास किया। हालांकि, वह असफल रहा। गुजरात के कोलार तालुक के केंदत्ती गांव के तालाब में शनिवार की रात दो साल के बच्ची का शव मिला। पुलिस ने बताया कि इसके अलावा झील के किनारे नीले रंग की एक कार भी मिली है। इस पर स्थानीय लोगों ने शक होने पर कोलार ग्रामीण थाने को सूचना दी। जांच के बाद पुलिस ने आरोपी को अपनी बेटी की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

हत्या से पहले बेटी के साथ खेला, गले लगाया और फिर मार डाला

आरोपी की पहचान राहुल परमार के रूप में हुई है जो गुजरात का रहने वाला है और दो साल पहले पत्नी भाव्या के साथ बेंगलुरु में रहने लगा था। राहुल ने पुलिस को बताया कि उसने अपनी बेटी को कार में गले लगाया और उसके साथ समय बिताया, उसके साथ खेला और फिर उसे मार डाला क्योंकि उसके पास पैसे नहीं थे और वह उसे खिलाने में सक्षम नहीं था।

पत्नी ने दर्ज कराई थी पति और बेटी की गुमशुदगी की रिपोर्ट

आरोपी और उसकी बेटी 15 नवंबर को लापता हो गए थे, जिसके बाद बच्चे की मां भाव्या ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस के मुताबिक, परमार पिछले छह महीने से बेरोजगार था और बिटकॉइन के कारोबार में उसे आर्थिक नुकसान हुआ था।

आरोपी ने कुछ दिनों पहले बेंगलुरु पुलिस स्टेशन में दर्ज कराई थी घर में चोरी की रिपोर्ट

परमार ने अपने घर से सोने के गहने चोरी होने की शिकायत बेंगलुरु पुलिस स्टेशन में भी दर्ज कराई थी। वह थाने में जाकर पूछताछ करता था। पुलिस ने शिकायत की जांच की तो पता चला कि राहुल ने ही घर से जेवर चोरी कर गिरवी रखे थे। उसने पुलिस में चोरी का झूठा मामला दर्ज कराया है। पुलिस ने उसे चेतावनी दी और थाने में आने को कहा। यह संदेह है कि राहुल ने पुलिस में फर्जी मामला दर्ज करने के परिणाम भुगतने के डर से कुछ किया होगा। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Edited By: Arun kumar Singh

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट