कोलकता, पीटीआइ। नागरिकता संशोधन कानून के लागू होने के बाद से भारत में रह रहे बांग्लादेशी घुसपैठिये को डर सताने लगा है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने शुक्रवार को कहा कि नागरिकता संशोधन कानून के बाद से भारत में रह रहे अवैध बांग्लादेशी नागरिक अपने देश वापस जाने लगे हैं। पिछले एक महीने में अवैध नागरिकों के देश छोड़ने की घटनाओं में वृद्धि देखने के मिली है।

अर्धसैनिक बल के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि अवैध रूप से भारत में बसने वालों को नागरिकता कानून का डर सताने लगा है। जबसे सीएए लागु हुआ है तबसे अवैध नागरिकों के अपने देश लौटने का सिलसिला शुरू हो गया है।

वापस लौटने के मामलों में तेजी

बीएसएफ इंस्पेक्टर जनरल (दक्षिण बंगाल फ्रंटियर) वाईबी खुरानिया ने कहा, 'पिछले एक महीने में देश के सीमावर्ती इलाकों से अवैध बांग्लादेशी नागरिकों के देश छोड़ने में काफी वृद्धि हुई है। अकेले जनवरी में हमने 268 अवैध बांग्लादेशी प्रवासियों को पकड़ा था, जिनमें से ज्यादातर पड़ोसी देश बांग्लादेश में वापस जाने की कोशिश कर रहे थे।

जिस रास्ते आए थे, उसी रास्ते वापस

अधिकारियों के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय सीमा के बड़े इलाके में फेंसिंग और बिजली नहीं है इसका फायदा उठाकर घुसपैठिए भारत में प्रवेश करने में सफल हो जाते हैं, लेकिन अब यही घुसपैठिए उसी रास्ते से वापस भाग रहे हैं।

भारत ने 445 बांग्लादेशियों को भेजा वापस

वहीं, इससे पहले बॉर्डर गार्ड बांग्लादेश कि तरफ से कहा गया था कि पिछले दो महीनों में 445 बांग्लादेशी नागरिक वापस भेजे गए हैं। बीजीबी के महानिदेशक मेजर जनरल मुहम्मद शफीनुल इस्लाम के अनुसार 2019 में अवैध रूप से सीमा पार करने पर 1000 लोगों को बांग्लादेश में गिरफ्तार किया गया था जिनमें से 445 नवंबर-दिसंबर में आए थे।

Posted By: Manish Pandey

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस