रायपुर (नईदुनिया)। अपात लैंडिंग के बाद रायपुर हवाई अड्डे पर पिछले तीन साल से खड़े बांग्लादेशी विमान को पहली बार रनवे के पास से हटा दिया गया। बांग्लादेश से यहां पहुंचे दो अफसरों की उपस्थिति में विमान को दक्षिण से पश्चिम दिशा की ओर खाली पड़ी जमीन पर खड़ा किया गया। कहा जा रहा है कि विमान को एक दो माह के अंदर 60 लाख का किराया चुकाकर बांग्लादेश ले जाया जा सकता है।

बता दें कि तीन साल पहले 7 अगस्त को इस यात्री विमान की उस समय इमरजेंसी लैंडिंग कराई गई थी जब यह विमान ढाका से मस्कट के लिए उड़ान भर रहा था। तीन साल बीतने के बाद भी बांग्‍लादेश ने इस विमान को वापस ले जाने में रूचि नहीं ली। अब इस विमान को एयरपोर्ट पर ही एक स्थान पर रखा गया है। इस बीच बांग्‍लादेश के प्रतिनिधि इनायत हुसैन विमान के संबंध में चर्चा करने पहली यहां अाए हैं।

तीन साल से स्वामी विवेकानंद एयरपोर्ट रायपुर पर खड़े यूनाइटेड बांग्‍लादेश के विमान का स्थान परिवर्तित कर रनवे के पश्चिम दिशा में कर दिया गया जहां से प्रचालन में कोई व्यवधान नहीं होगा। इस कार्य को 20 जुलाई 2018 को यूनाइटेड बांग्‍लादेश के प्रतिनिधि इनायत हुसैन, सहायक प्रबंधक (इंजीनियरिंग) एवं सुभंकर बनर्जी, सहायक महाप्रबंधक,कोलकाता के उपस्थिति में एयर इंडिया के सहयोग से संपन्न किया गया।

यूनाइटेड बांग्‍लादेश द्वारा खाली किए गए स्थान पर आने वाले चुनाव में छोटे-छोटे विमानों को रखने में सहूलियत होगी। बाद में इसी स्थान पर समानांतर टैक्सी ट्रैक बनाने की भी योजना है। इस कार्य में पूर्ण सहयोग देने के लिए राकेश सहाय विमानपत्तन निदेशक ने विशेष कर एयर इंडिया को धन्यवाद दिया। इस कार्य के बाद भारतीय विमानत्तन प्राधिकरण बकाया राशि के लिए यूनाइटेड बांग्‍लादेश पर दबाव बनाएगी एवं कंपनी को अपने विमान को शीघ्र वापस ले जाने के लिए कहेगी।

Posted By: Nancy Bajpai