लखनऊ [जागरण न्यूज नेटवर्क]। अयोध्या में चौरासी कोसी परिक्रमा पर प्रतिबंध के फैसले को अमल में लाने के लिए पुलिस व प्रशासन ने कमर कस ली है। अयोध्या की सीमाएं सील कर दी गई हैं और निषेधाज्ञा तोड़ने वालों को गिरफ्तार करने की हिदायत दी गई है। फैजाबाद जिला प्रशासन ने विश्व हिंदू परिषद के 70 नेताओं व सक्रिय कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के लिए वारंट जारी कर दिए हैं। जिनके खिलाफ वारंट जारी किए गए हैं उनमें संगठन के शीर्ष नेता अशोक सिंहल, प्रवीण तोगड़िया और रामविलास वेंदाती शामिल हैं। सूचना है कि इलाहाबाद से सरकारी इंतजामों को चकमा देकर सैकड़ों संत अयोध्या रवाना हो गए हैं। अयोध्या पहुंचने के लिए उन्होंने ग्रामीण पैदल रास्तों को पकड़ा है।

प्रदेश मुख्य सचिव जावेद उस्मानी ने शुक्रवार को प्रमुख सचिव गृह आरएम श्रीवास्तव, डीजीपी देवराज नागर, लखनऊ जोन के आइजी सुभाष चंद्र और अन्य अधिकारियों के साथ परिक्रमा की घोषणा से उपजी स्थितियों से निपटने के लिए अब तक उठाए गए कदमों की समीक्षा की। प्रभाव वाले इलाके को चार जोनों में बांटा गया है। जिसकी निगरानी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और मजिस्ट्रेटों को संयुक्त रूप से सौंपी गई है। अधिकारियों से कहा गया है कि अयोध्या की ओर से जाने वाली सभी रास्तों को सील कर दिया जाए। गहन छानबीन के बाद ही वाहनों को आगे की ओर रवाना किया जाए। जिलों के सीमावर्ती क्षेत्रों में पीएसी के साथ अर्धसैनिक बलों की टुकड़ियां तैनात की जाएं। पुलिस अधिकारियों ने मुख्य सचिव को बताया कि अयोध्या शहर में त्रिस्तरीय सुरक्षा के इंतजाम हैं। पीएसी की गोताखोर इकाई भी तैनात कर दी गई है। यह खासतौर पर सरयू तट पर सक्रिय रहेगी।

पड़ोसी राज्यों से मांगी खुफिया जानकारी

आइजी [कानून व्यवस्था] राजकुमार विश्वकर्मा के अनुसार स्थिति से निपटने के लिए सभी पड़ोसी राज्यों से खुफिया जानकारियों का सहयोग मांगा गया है। इससे उत्तर प्रदेश की ओर आने वाले लोगों की संख्या के बारे में सही जानकारी मिल सकेगी।

उत्तराखंड में अलर्ट

उत्तर प्रदेश में चौरासी कोसी परिक्रमा पर प्रतिबंध की घोषणा के मद्देनजर उत्तराखंड प्रशासन भी सक्रिय हो गया है। उप्र से लगने वाली सीमा पर खासतौर पर चौकसी बढ़ा दी गई है। सीमावर्ती जिलों में सूचनाओं में आदान-प्रदान हो रहा है।

अशोक सिंहल दिल्ली रवाना

विश्व हिंदू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संरक्षक अशोक सिंहल को शुक्रवार इलाहाबाद में नजरबंद कर दिया गया। प्रशासन ने प्रात: करीब साढ़े दस बजे सिंहल के कमला नेहरू अस्पताल के सामने स्थित आवास को घेर लिया। दोपहर 12.30 तक उन्हें घर से बाहर नहीं निकलने दिया गया। दोपहर बाद सिंहल ने कहा कि वह पारिवारिक कार्यक्रम में शरीक होने इलाहाबाद आए थे और अब दिल्ली जा रहे हैं। इस पर उन्हें बमरौली एयरपोर्ट तक ले जाया गया। इलाहाबाद के एसएसपी उमेश श्रीवास्तव ने बताया कि शासन ने सिंहल को अयोध्या की ओर जाने की स्थिति में नजरबंद करने का आदेश दिया था। जबकि सिंहल ने खुद को नजरबंद किए जाने से इन्कार किया।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप