नई दिल्‍ली, जेएनएन। सुप्रीम कोर्ट में मंगलवार को राम जन्मभूमि मामले की 25वें दिन की सुनवाई की गई।  कोर्ट ने तीनों पक्ष से सवाल किया-  निश्‍चित समय बताएं कि कब तक बहस पूरी हो जाएगी। इससे कोर्ट को पता चलेगा कि उसके पास कितना समय है। बता दें कि मुस्लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने शुक्रवार को मामले में बहस से आराम देने की कोर्ट से गुहार लगाई थी।

इसके पहले सोमवार को मुस्लिम पक्ष ने जन्मस्थान को देवता मानते हुए न्यायिक पक्षकार बनाने का विरोध किया था। अयोध्‍या मामले की सुनवाई चीफ जस्‍टिस रंजन गोगोई की अध्‍यक्षता में जस्‍टिस बोबडे, डीवाइ चंद्रचूड़, अशोक भूषण और अब्‍दुल नजीर की बेंच कर रही है।

मुस्‍लिम पक्ष के वकील राजीव धवन ने सोमवार को कोर्ट से कहा कि अगर ऐसा मान लिया जाता है तो बाकी सभी पक्षों और धार्मिक विश्वास रखने वालों के अधिकार खतम हो जाएंगे। यहां तक कि कोर्ट भी कुछ नहीं कर सकता। कहा जन्मस्थान को न्यायिक पक्षकार नही माना जा सकता। बहस मंगलवार को भी जारी रहेगी।

यह भी पढ़ें: अयोध्‍या मामले में सुन्नी वक्फ बोर्ड और निर्वाणी अखाड़ा ने फिर की मध्यस्थता की बात

Posted By: Monika Minal

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप