गुवाहाटी, एजेंसी। राज्‍य सरकारें स्‍कूली शिक्षा मे सुधार के लिए कई कदम उठा रही हैं। इसी कड़ी में असम सरकार ने सभी उच्च विद्यालयों, उच्च माध्यमिक विद्यालयों और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों को कक्षाओं में सभी शिक्षकों की तस्वीरें प्रदर्शित करने के लिए कहा है। यह आदेश असम के माध्यमिक शिक्षा निदेशक ममता होजई द्वारा राज्य के सभी माध्यमिक विद्यालयों के संस्थागत प्रमुखों को जारी किया गया है।

मजबूत, अच्छी गुणवत्ता वाले फ्रेम में प्रदर्शित करें शिक्षकों की तस्‍वीरें

17 अगस्त के आदेश में सभी स्कूलों के निरीक्षकों को निर्देश दिया गया है कि वे अपने अधिकार क्षेत्र के सभी संस्थानों के प्रमुखों को निर्देश जारी करें कि वे सरकार के निर्देशानुसार कक्षाओं में सभी शिक्षकों की तस्वीरों को मजबूत, अच्छी गुणवत्ता वाले फ्रेम में प्रदर्शित करें। होजई ने बताया कि यह आदेश सभी उच्च विद्यालयों, उच्च माध्यमिक विद्यालयों और वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में लागू होगा।

शिक्षकों और अभिभावकों के बीच नहीं होता है कोई संवाद

होजई के अनुसार, इस कदम के पीछे मुख्य कारण शिक्षकों और अभिभावकों के बीच अधिक पारदर्शिता लाना है। मामले में माता-पिता शिक्षकों से मिलना चाहते हैं और अपने बच्चे के बारे में मुद्दों पर चर्चा करना चाहते हैं। वे ऐसा तब तक नहीं कर सकते, जब तक वे शिक्षकों को ठीक से नहीं जानते।

बच्‍चों को लेकर अभिभावकों के होते हैं कुछ मुद्दे

ममता होजई ने कहा कि हमारा मुख्य उद्देश्य स्कूली छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देना है। बच्चों को शैक्षणिक पक्ष के संबंध में कुछ मुद्दे हो सकते हैं। यदि अभिभावक शिक्षक से परामर्श करना चाहते हैं, तो वे एक-दूसरे को नहीं जानते हैं। यदि किसी बच्चे को कोई समस्या है, तो माता-पिता शिक्षकों के साथ चर्चा करना चाहते हैं। अगर वे नहीं जानते कि शिक्षक कौन हैं तो यह मुश्किल हो जाता है। इसलिए हमने सभी संस्थागत प्रमुखों को कक्षाओं में शिक्षकों की तस्वीरें प्रदर्शित करने के लिए कहा है।

असम सरकार शिक्षा में सुधार के लिए उठा चुकी है कई कदम

यह राज्य के शिक्षा क्षेत्र में हिमंत बिस्वा सरमा के नेतृत्व वाली असम सरकार द्वारा उठाए गए कई कदमों में से एक है। पिछले महीने असम सरकार ने स्कूल शिक्षा विभाग को कक्षा 6 से 12 के लिए विज्ञान और गणित के लिए अंग्रेजी को शिक्षा के माध्यम के रूप में पेश करने का निर्देश दिया था।

Edited By: Arun Kumar Singh