नई दिल्ली/मुंबई, एजेंसियां। मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले में फंसे बालीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को जमानत मिल गई है। आर्यन खान समेत अन्य आरोपितों को भी कोर्ट से जमानत मिल गई है। जमानत याचिका पर सुनवाई के लिए आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी और सतीश मानशिंदे बाम्बे हाईकोर्ट में मौजूद रहे। आर्यन खान के वकील मुकुल रोहतगी ने कोर्ट के बाहर मीडिया से बात करते हुए कहा कि अभी कल (शुक्रवार) या परसों (शनिवार) तक आर्यन खान जेल से बाहर आ जाएंगे। बता दें कि आर्यन खान 7 अक्टूबर से आर्थर रोड जेल में बंद हैं। आर्यन खान और अन्य को क्रूज से ड्रग्स पकड़े जाने के सिलसिले में 2 अक्टूबर को एनसीबी ने हिरासत में लिया था। बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में कुल 20 लोगों को एनसीबी ने गिरफ्तार किया था। 

Aryan Khan Bail Highlights:

- जमानत के बाद वकील मुकुल रोहतगी ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि बाम्बे हाईकोर्ट ने तीन दिन तक दलीलें सुनने के बाद आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट, मुनमुन धमेचा को जमानत दे दी है। विस्तृत आदेश कल दिया जाएगा। उम्मीद है कल या शनिवार तक सभी जेल से बाहर आ जाएंगे।

- इसके पहले सुनवाई के दौरान एएसजी अनिल सिंह ने बाम्बे हाईकोर्ट में कहा था कि आर्यन खान के पास ड्रग्‍स का 'कॉन्‍शस पजेशन' था। उन्‍हें अच्‍छी तरह से मालूम था कि उनके दोस्‍त अरबाज के पास चरस है और यह दोनों के लिए था।

- बाम्बे हाईकोर्ट में सुनवाई के दौरान एनसीबी का प्रतिनिधित्व करने वाले एएसजी अनिल सिंह ने कहा था कि अगर हमने व्हाट्सएप चैट पर भरोसा किया, तो उसने (आर्यन खान) व्यावसायिक मात्रा में ड्रग्स की बिक्री करने की कोशिश की थी। उन्होंने आगे कहा था कि एक व्यावसायिक मात्रा का था। यह नहीं कहा जा सकता कि ड्रग्स व्यक्तिगत सेवन के लिए था।

सभी आरोपियों की दलीलें पूरी

मालूम हो कि आर्यन खान ड्रग मामले में उनके वकील मुकुल रोहतगी अपना पक्ष मंगलवार को ही रख चुके थे। बुधवार को अरबाज के वकील अमित देसाई और मुनमुन धमेचा के वकील अली काशिफ खान देशमुख ने अपना पक्ष रखा। बाम्बे हाईकोर्ट में अरबाज मर्चेंट के वकील अमित देसाई ने अपनी दलील में कहा था कि गिरफ्तारी गैरकानूनी है। पहली रिमांड की अर्जी में साजिश की धारा नहीं थी, सबूतों के आधार पर गिरफ्तारी हुई, तो साजिश की धारा क्यों लगाई ? 

NCB का गवाह किरण गोसावी गिरफ्तार

आर्यन खान ड्रग केस में एनसीबी के गवाह किरण गोसावी को पकड़ लिया गया है। पुणे पुलिस के कमिश्नर ने इस बात की पुष्टि की है कि पुलिस ने क्रूज पार्टी ड्रग केस में एनसीबी के स्वतंत्र गवाह किरण गोसावी को हिरासत में लिया है। पुणे पुलिस का कहना है कि गोसावी से धोखाधड़ी के मामले में पूछताछ की जा रही है। साल 2018 के धोखाधड़ी मामले में पुणे पुलिस द्वारा उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी करने के बाद से फरार गोसावी ने दावा किया था कि महाराष्ट्र में उसकी जान को खतरा है।

दरअसल, किरण गोसावी को 2018 में धोखाधड़ी के एक मामले में हिरासत में लिया गया है, जिसमें वह फरार था। 2019 में पुणे सिटी पुलिस ने उसे वांटेड घोषित किया। वह तब से लापता था और उसे केवल एनसीबी गवाह के रूप में क्रूज रेड के दौरान देखा गया था। 14 अक्टूबर को पुलिस ने उसके खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया था।

आज किरण गोसावी की पुणे कोर्ट में पेशी

पुणे सिटी पुलिस में दर्ज धोखाधड़ी मामले में एक आरोपी किरण गोसावी (ड्रग्स-ऑन-क्रूज़ मामले में एनसीबी गवाह) को फरसखाना पुलिस स्टेशन पुणे ने औपचारिक रूप से गिरफ्तार कर लिया है। उसे आज पुणे कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पुणे कमिश्नर का बयान

पुणे शहर के कमिश्नर अमिताभ गुप्ता ने कहा है कि किरण गोसावी को धोखाधड़ी के एक मामले में पुणे के बाहरी इलाके से हिरासत में लिया गया था। औपचारिक रूप से उसे गिरफ्तार करने की प्रक्रिया चल रही है।

पुणे शहर के कमिश्नर अमिताभ गुप्ता ने कहा कि किरण गोसावी सचिन पाटिल को दूसरे ​​नाम के तौर पर इस्तेमाल कर रहा था। मेरा अभी तक नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो से कोई संपर्क नहीं हुआ है। इस मामले में कोई राजनीति नहीं है। उन्होंने कहा कि किरण गोसावी को उन्हें सौंपने के लिए अभी तक (मुंबई पुलिस या किसी अन्य एजेंसी से) ऐसी कोई मांग नहीं की गई है। उन्होंने कहा कि किरण गोसावी को 2018 धोखाधड़ी के एक मामले में गिरफ्तार किया गया है। 2019 में मामले में चार्जशीट दायर की गई थी। अगर हमें उसके खिलाफ और शिकायतें मिलती हैं, तो हम उसके खिलाफ नया अपराध दर्ज करेंगे।

आज समीर वानखेड़े से फिर पूछताछ

आर्यन खान गिरफ्तारी मामले में चर्चा में आए एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े से आज एनसीबी की टीम फिर से पूछताछ करेगी। समीर वानखेड़े से एनसीबी अधिकारियों ने कल 4 घंटे की लंबी पूछताछ की।

Edited By: Shashank Pandey