नई दिल्ली, एएनआइ। बांग्लादेश के दौरे पर पहुंचे सेना प्रमुख ने बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि अर्पित की। जिन्होंने 1971 के लिबरेशन युद्ध के दौरान देश के नाम कुर्बानी दी थी। इसके साथ ही सेना प्रमुख को सेनकुंज में भारतीय सेना में गार्ड ऑफ ऑनर भी प्राप्त हुआ। 

बता दें कि सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (Army chief General Manoj Mukund Naravane) बांग्लादेश की यात्रा के लिए सुबह रवाना हुए थे। सेना की तरफ से आए ताजा बयान के मुताबिक, सेना प्रमुख अगले पांच दिनों तक पड़ोसी देश के दौरे पर हैं। इस यात्रा का उद्देश्य भारत और बांग्लादेश के बीच रक्षा सहयोग और मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को और आगे बढ़ाना है। इस यात्रा के बारे में अतिरिक्त सार्वजनिक सूचना महानिदेशालय, सेना के आइएसक्यू (IHQ ) के ट्विटर हैंडल द्वारा जानकारी साझा की गई थी।

इससे पहले गए थे ढाका

ट्वीट कर कहा,' सेना प्रमुख बांग्लादेश के पांच दिवसीय दौरे पर आगे बढ़े। इस यात्रा का उद्देश्य भारत और बांग्लादेश के बीच मजबूत सहयोग और मजबूत द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ाना है'। बता दें कि इससे पहले 4 अप्रैल को भारतीय सेना का प्रतिनिधिमंडल ढाका में एक बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास में भाग लेने के लिए गया था, जिसका नाम 'शान्तिर ऑर्गोसेना 2021' (फ्रंट रनर ऑफ़ द पीस) था।

4-12 अप्रैल तक बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास 

गौरतलब है कि यहां पर बंगलाबंधु शेख मुजीबुर रहमान की जन्म शताब्दी और बांग्लादेश मुक्ति की स्वर्ण जयंती को चिह्नित करने के लिए 4-12 अप्रैल से बहुराष्ट्रीय सैन्य अभ्यास आयोजित किया गया है।

रिपोर्ट के मुताबिक, इस दौरान सेना प्रमुख 12 अप्रैल को माली, दक्षिण सूडान और मध्य अफ्रीकी गणराज्य के संयुक्त राष्ट्र मिशनों के सैन्य कमांडरों और रॉयल भूटानी सेना के उप-मुख्य संचालन अधिकारी के साथ बातचीत करने करेंगे। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021