नई दिल्ली, एएनआइ। जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है। उसकी बौखलाहट लाइन ऑफ कंट्रोल (LoC) पर भी देखने को मिल रही है। खबर है कि पाकिस्तानी सेना एलओसी की ओर बढ़ रही है और लद्दाख के सामने अपने एयरबेस पर लड़ाकू विमानों को तैनात कर रही है। अब इसे लेकर थल सेना अध्यक्ष बिपिन रावत ने बयान दिया है।

उन्होंने कहा 'यदि वे एलओसी को सक्रिय करना चाहते हैं तो उन पर निर्भर करता है। एहतियात के तौर पर हर कोई तैनाती करता है, हमें इसके बारे में बहुत ज्यादा चिंतित नहीं होना चाहिए। जहां तक ​​सेना और अन्य सेवाओं का सवाल है तो हमें हमेशा तैयार रहना होगा।' 

अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद जम्मू-कश्मीर के हालात पर सेना प्रमुख बिपिन रावत ने कहा कि हमारे रिश्ते 70-80 के दशक की तरह ही है। हम उनसे बिना बंदूक के मिलते थे और उम्मीद है कि हम उनसे बिना बंदूक के मिलते रहेंगे। कश्मीरी लोगों के साथ हमारी बातचीत पहले की तरह सामान्य है।

गौरतलब है कि पाकिस्तान ने लद्दाख के पास स्कर्दू एयरबेस पर लड़ाकू विमान तैनात किए हैं। जानकारी अनुसार, शनिवार को उसने तीन सी-130 मालवाहक विमान यहां भेजे थे। इनमें लड़ाकू विमानों के उपकरण लाए गए। वहीं, भारत-पाकिस्तान से लगी सीमा पर कड़ी नजर रख रहा है।

संभावना जताई जा रही है कि पाकिस्तान इस एयरबेस पर जेएफ-17 लड़ाकू विमान तैनात कर सकता है। भारत सरकार के सूत्रों ने कहा कि पाकिस्तान की हरकतों पर बारीकी से नजर रखी जा रही है। वायुसेना और सेना को खुफिया विभाग ने विमानों की तैनाती के बारे में अलर्ट भेजा है। स्कर्दू पाकिस्तान का एक फॉरवर्ड ऑपरेटिंग बेस है। वह इसका इस्तेमाल सीमा पर सेना के ऑपरेशन को समर्थन देने के लिए करता है। सूत्रों की मानें तो पाक वायुसेना यहां अभ्यास करने की योजना बना रही है। यही कारण है कि वह अपने विमान यहां ला रही है।

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Tanisk