गढ़चिरौली। नक्सल प्रभावित महाराष्ट्र के गढ़चिरौली जिले में नक्सलियों को सरकारी एंबुलेंस से हथियारों की आपूर्ति किए जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मामले का खुलासा शुक्रवार रात उस समय हुआ जब पुलिस ने चार लोगों को एंबुलेंस से हथियार ले जाते हुए गिरफ्तार किया। पुलिस ने इस मामले में कांग्रेस के एक स्थानीय नेता और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के एक डाक्टर के खिलाफ मामला दर्ज किया है। फिलहाल दोनों फरार हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।

पुलिस के अनुसार गुप्त सूचना के आधार पर शुक्रवार रात भम्रागढ़ तहसील क्षेत्र में एक सरकारी एंबुलेंस को रोका गया। एंबुलेंस में चार लोग सवार थे। एंबुलेंस की तलाशी लेने पर उसमें विस्फोटक, जिलेटिन की छड़ें, डेटोनेटर, एके-47 रायफल की दस गोलियां, दवाएं और तिरपाल बरामद हुए। पुलिस ने तुरंत ही चारों को हिरासत में ले लिया।

पूछताछ में पकड़े गए लोगों ने बताया कि कांग्रेस नेता और पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष बंदोपंत मालेवर और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के डाक्टर रविंद्र करपे के कहने पर नक्सलियों के लिए ये सामान ले जाया जा रहा था। पकड़े गए लोगों में मालेवर का ड्राइवर विवेक दाहित [25] शामिल है। पुलिस अधीक्षक सुवेज हक के अनुसार, मालेवर और करपे के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है और उनकी तलाश जारी है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप