नई दिल्ली, एजेंसी। भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म आज के दिन (15 oct) हुआ था और उन्हें लोग भारत के 'मिसाइल मैन' के रूप में भी जाना करते थे। वह भारत के 11 वें राष्ट्रपति थे और उनका कार्यकाल 2002 से 2007 तक का था। एपीजे अब्दुल कलाम जिन्हें 'भारत रत्न ’(1997) मिल चुका था, लोग उन्हें 'पीपल्स प्रेसिडेंट' भी कहा करते थे। कलाम के जीवन का हर पहलू सभी के लिए प्रेरणा है। पूर्व राष्ट्रपति ने यह भी साबित कर दिया था कि व्यक्ति अपने कार्यों और ज्ञान से महान बनता है, न कि गुण और धन से।

एपीजे अब्दुल कलाम को बच्चे बहुत पसंद थे और बच्चों के साथ समय बिताना भी उन्हें बहुत रास आता था। हालांकि, वह अपने पूरे जीवन में कुंवारे रहे। बच्चों का शौक था, लेकिन इसके बावजूद उनका कोई अपना बच्चा नहीं था। एक बार उनकी समझ ने पत्रकारों को भी हैरान कर दिया था।

बताया गया कि एक बार कलाम राष्ट्रपति भवन में बच्चों के साथ मस्ती कर रहे थे। इस दौरान मीडिया के लोगों की नजर कलाम पर गई, उस समय उनके चेहरे पर खुशी और संतोष था। तो ऐसे में पत्रकारों ने भी बिना समय खराब किए कलाम से पूछ लिया कि आपके कोई खुद के बच्चे क्यों नहीं है? जिस पर कलाम ने जवाब दिया, 'आप सभी गलत हैं, मेरे तीन बेटे हैं।'

रिपोर्टर कलाम के बयान से स्तब्ध थे। कलाम ने सामने से सवाल करते हुए पूछा, 'आप मेरे तीनों बेटों को नहीं जानते? वे 'पृथ्वी', 'अग्नि' और 'ब्रह्मोस' हैं।

पूर्व राष्ट्रपति ने 27 जुलाई 2015 को अंतिम सांस ली। एपीजे अब्दुल कलाम शिलांग की यात्रा पर भारतीय प्रबंधन संस्थान में लेक्चर देने गए थे। सीढ़ियों पर चढ़ने के दौरान, कलाम को असुविधा महसूस हुई, लेकिन वे सभागार में पहुंचा गए। हालांकि, अपने पांच मिनट के भाषण के दौरान, लगभग 6.35 बजे, कलाम मंच पर गिर गए। कलाम को पास के Bethany Hospital ले जाया गया। हालांकि, उनमें कुछ बाकी नहीं बचा था। डॉक्टरों के प्रयासों के बावजूद कलाम बच नहीं पाए। उन्हें शाम 7.45 बजे मृत घोषित कर दिया गया।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप