नई दिल्ली, प्रेट्र। अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त अर्थशास्त्री जगदीश भगवती ने शुक्रवार को कहा कि नोटबंदी से वृद्धि दर में बढ़ोतरी होगी। जबकि इसकी आलोचना करने वाले अम‌र्त्य सेन और अन्य विशेषज्ञ अब बेनकाब हो गए हैं और अपमानित महसूस कर रहे हैं।

कोलंबिया विश्वविद्यालय में अर्थशास्त्र, कानून और अंतरराष्ट्रीय संबंधों के प्रोफेसर भगवती ने ईमेल के जरिये दिए एक विशेष साक्षात्कार में कहा, 'वृद्धि दर पर नोटबंदी के प्रभाव पर मैं अकेला अर्थशास्त्री था जिसने कहा था कि नोटबंदी की वजह से वृद्धि दर में कमी नहीं आएगी, बल्कि इसमें वृद्धि होगी। और ठीक यही होता हुआ दिखाई दे रहा है।'

उन्होंने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सफलता का यही मतलब है कि अम‌र्त्य सेन और उनके मित्र कांग्रेस की तरह बेनकाब हो गए हैं। उन्होंने कहा कि तीन चीजें हैं जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की वर्तमान स्थिति को 'अजेय' बनाती हैं। पहली, उन्होंने गांधी-नेहरू वंशवाद को पूरी तरह खत्म कर दिया है।

इसलिए कांग्रेस न सिर्फ बर्बादी की कगार पर है, बल्कि उसके पास वर्तमान में ऐसा कोई कद्दावर नेता भी नहीं है जो उसे इस हालत से उबार सके। दूसरी, मुस्लिम वोट अब एकतरफा रूप से भाजपा विरोधी नहीं रहे हैं। भले ही भाजपा ने उत्तर प्रदेश चुनावों में मुस्लिम प्रत्याशियों को नहीं उतारा, फिर भी मुस्लिम इस प्रचार के प्रति सचेत हैं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मुस्लिम विरोधी हैं। यह सिर्फ अब एक बड़ा झूठ है।

तीसरा, उन्होंने एक मेधावी मुस्लिम सैयद अकबरुद्दीन को संयुक्त राष्ट्र में भारत का प्रतिनिधि नियुक्त किया, देश के सर्वश्रेष्ठ पत्रकार एमजे अकबर को अपनी टीम में शामिल किया और अमेरिका में नए राजदूत के रूप में एक सिख को नियुक्त किया, इससे शासन में भारतीय विविधता को समाहित करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच प्रदर्शित होती है।

यह पढ़ें: आयकर विभाग की सुस्ती बनी कालेधन से जंग में अड़चन

Posted By: Mohit Tanwar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस