अमरावती, आइएएनएस/एएनआइ। आंध्र प्रदेश की जगन मोहन रेड्डी सरकार ने एक बड़ी जनहित योजना की शुरुआत की है। राज्य में अब घर-घर राशन पहुंचाई जाएगी। विजयवाड़ा में एक कार्यक्रम में सीएम जगनमोहन रेड्डी राशन डोर डिलीवरी व्हीकल्स को हरी इंडी दिखाई। सरकार चाहती है कि लोगों को राशन के लिए परेशानी का सामना न करना पड़े और सरकारी वाहन से राशन उनके घर तक पहुंचे। 

राज्य सरकार ने राशन कार्डधारकों को चावल और अन्य आवश्यक वस्तुओं के वितरण के लिए 539 करोड़ रुपये के 9,260 वाहन खरीदे हैं। एक वाहन में लगभग पांच लाख 81 हजार रुपये की कीमत का समान होगा, जो लाभार्थियों को 60 प्रतिशत की सब्सिडी दर पर मिलेगा। कुल बजट 3,48,600 का है। मुख्यमंत्री रेड्डी ने आज कृष्णा, गुंटूर और पश्चिम गोदावरी जिलों में लगभग 2,500 डोर डिलीवरी व्हीकल्स का उद्घाटन किया।

एक अधिकारी ने कहा कि 1 फरवरी से, चावल और राशन 9,260 वाहनों द्वारा घर तक पहुंचाए जाएंगे। इस योजना पर सरकार 830 करोड़ रुपये खर्च करेगी। नागरिक आपूर्ति विभाग ने चावल की खरीद में बदलाव किया है। अब लाभार्थियों को सॉर्टेक्स चावल की आपूर्ति होगी। वॉलेंटियर सिस्टम का उपयोग करके, गुणवत्ता वाले चावल कार्डधारकों के दरवाजे तक पहुंचाई जाएगी और उनकी उंगलियों के निशान लेकर सटीक वजन के साथ रीयूजएबल बैग में राशन की आपूर्ति करेंगे। प्रत्येक चावल की थैली को सील किया जाएगा। इसका एक यूनिक कोड भी होगा। इससे मिलावट की कोई गुंजाइश नहीं बचेगी।

इसके अलावा, डिलीवरी वाहनों में जीपीएस भी फिट होगा, जिससे प्रत्येक वाहन को ट्रैक किया जाएगा। वाहनों को प्रत्येक महीने के 18 दिनों के भीतर राशन पहुंचाना होगा। बेरोजगार युवाओं के लिए रोजगार गारंटी योजना के तहत विभिन्न निगमों के माध्यम से 60 प्रतिशत की सब्सिडी पर पात्र राशन कार्डधारकों को राशन की आपूर्ति की जाएगी। एसटी कॉर्पोरेशन के माध्यम से 700, एससी निगम के माध्यम से 2,300, बीसी निगम के माध्यम से 3,800, अल्पसंख्यक निगम के माध्यम से 660 और ईडब्ल्यूबी निगम के माध्यम से 1,800 वाहनों को आवंटित किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री के साथ नगरपालिका के आपूर्ति मंत्री कोडाली श्री वेंकटेश्वर राव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप