नई दिल्ली, प्रेट्र। कोरोना वायरस के प्रसार के कारण देश में 25 मार्च से लगे लॉकडाउन को दो महीने हो गए हैं। कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण सरकार को चौथे चरण का लॉकडाउन घोषित करना पड़ा। हालांकि चौथे चरण के लॉकडाउन में काफी छूट दी गर्इ है। रेल और घरेलू उड़ानें शुरू कर दी गई हैं। इसके बावजूद देश के कई लोगों का मानना है कि लॉकडाउन को खत्‍म करना चाहिए, जिससे अर्थव्‍यवस्‍था को गति मिलेगी। इसका समर्थन करने वालों में उद्योगपति और महिंद्रा समूह के चेयरमैन आनंद महिंद्रा भी शामिल हैं। सोशल मीडिया पर सक्रिय रहने वाले आनंद महिंद्रा ने सोमवार को लॉकडाउन को लेकर बयान दिया है। उनका कहना है कि लॉकडाउन बढ़ाना न सिर्फ अर्थव्यवस्था के लिए घातक होगा, बल्कि यह एक नया स्वास्थ्य संकट भी पैदा करेगा। आनंद महिंद्रा ने ट्वीट किया कि लॉकडाउन को आगे बढ़ाना न सिर्फ अर्थव्यवस्था के लिए घातक होगा, बल्कि जैसा कि मैंने पहले भी ट्वीट कर कहा है कि यह एक अन्य स्वास्थ्य संकट को पैदा करने वाला होगा।

लॉकडाउन से नहीं कोई मदद मिलने वाली 

इस बारे में आनंद महिंद्रा ने 'लॉकडाउन के खतरनाक मनोवैज्ञानिक प्रभाव और कोविड-19 के अलावा अन्य मरीजों की अनदेखी' विषय पर लिखे एक लेख का हवाला दिया। आनंद महिंद्रा ने लॉकडाउन 3 के 49 दिन बाद इसे हटाने का प्रस्ताव किया था। उन्होंने कहा कि नीति निर्माताओं के लिए चयन करना आसान नहीं है, लेकिन लॉकडाउन से भी कोई मदद नहीं मिलने वाली है।

स्‍वास्‍थ्‍य सुविधाएं बढ़ाने पर होना चाहिए ध्‍यान 

उन्होंने कहा कि देश में कोरोना वायरस संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती रहेगी और हमारा पूरा ध्यान तेजी से अस्पताल के बिस्तरों की संख्या बढ़ाने और ऑक्सीजन की व्यवस्था करने पर होना चाहिए। महिंद्रा ने इस काम में सेना की मदद लेने के लिए भी कहा, क्योंकि सेना के पास इसका तजुर्बा है।

लगातार बढ़ रही है कोरोना संक्रमितों की संख्‍या 

गौरतलब है कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक पिछले चौबीस घंटे में 6,977 नए मामले मिले हैं और 154 लोगों की मौत हो गई है। मंत्रालय के मुताबिक अब तक मिले संक्रमितों की संख्या 1,38,845 हो गई है, जिसमें से 77 हजार ही एक्टिव केस हैं। 4,021 लोगों की अब तक मौत हो चुकी है।

 

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस