नई दिल्ली, एएनआइ। केरल के कोझीकोड में शुक्रवार को एयर इंडिया एक्सप्रेस की एक फ्लाइट की इमरजेंसी लैंडिंग की गई। दरअसल फ्लाइट के पायलट कार्गो कंपार्टमेंट में फायर अलार्म से सचेत हुए और 17 यात्रियों  के साथ फ्लाइट की लैंडिंग की। यह उड़ान कालीकट-कुवैत के लिए निर्धारित थी। इसकी जानकारी एयर इंडिया एक्सप्रेस केे प्रवक्ता ने दी। जहाज पर सवार लोगों को कोई चोट नहीं लगी है और न ही विमान को नुकसान पहुंचा है।

पायलटों ने कार्गो खाड़ी से एक फायर अलार्म का पता लगाया और केरल के कोझीकोड अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक इमरजेंसी लैंडिंग करने का फैसला किया।

पिछले साल कोझिकोड में हुआ था हादसा

बता दें कि पिछले साल केरल के कोझिकोड में करीपुर एयरपोर्ट पर एयर इंडिया एक्सप्रेस का एक विमान लैंडिंग करने के दौरान फिसलकर खाई में गिर गया था । दुबई से आ रहे इस फ्लाइट में पायलट और क्रू मेंबर समेत 190 यात्री सवार थे। पिछले माह नागर विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया, 'भारी बारिश के दौरान इस दुर्घटना में  35 फीट गहरे खाई में गिरने से विमान दो हिस्सों में टूट गया था और हादसे के अगले दिन 149 लोगों को अस्पतालों मे भर्ती कराया गया।'  कोझीकोड विमान हादसे की जांच के लिए विमान दुर्घटना जांच बोर्ड ने पांच सदस्यीय समिति बनाने की घोषणा की थी। बोर्ड ने कहा था कि समिति पांच माह में अपनी रिपोर्ट दे देगी।

बता दें कि 7 अगस्‍त को हुए हादसे के अगले दिन ही केंद्र सरकार, केरल सरकार और एयर इंडिया एक्सप्रेस की ओर से मुआवजे का ऐलान कर दिया गया था। एयरलाइंस ने कहा था कि तत्काल राहत प्रदान करने के लिए अंतरिम मुआवजे के तौर पर 12 वर्ष और उससे अधिक उम्र के मृतकों के परिजनों को 10 लाख रुपये, 12 वर्ष से कम उम्र के मृतक के परिजनों को 5 लाख रुपये और गंभीर तौर पर घायलों को 2 लाख रुपये देगी। इसके अलावा केरल के मुख्यमंत्री पिनाराई विजयन ने दुर्घटना में मरने वाले यात्रियों के परिजनों को 10 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा की थी। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021