कोलकाता [जासं]। एसएसकेएम अस्पताल में भर्ती इमामी ग्रुप के कार्यकारी चेयरमैन व एडवांस मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट [आमरी] अस्पताल के निदेशक आरएस अग्रवाल को कोर्ट ने बुधवार को तलब किया है।

कोर्ट के आदेश पर एसएसकेएम के पांच सदस्यीय डॉक्टरों की टीम ने मंगलवार देर शाम आरएस अग्रवाल के स्वास्थ्य की रिपोर्ट उसे सौंपी। मंगलवार को सुनवाई में अलीपुर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी [सीजेएम] कोर्ट के जज चौधरी हेफाजत करीम ने अस्पताल के छह निदेशकों- एसके तोदी, रवि तोदी, आरएस गोयनका, दयानंद अग्रवाल, प्रशांत गोयनका और मनीष गोयनका को 22 दिसंबर तक पुलिस रिमांड पर भेज दिया।

गत नौ दिसंबर को आमरी अस्पताल में हुए अग्निकांड के बाद पुलिस ने वहां के निदेशकों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके छह लोगों को गिरफ्तार किया था। अग्रवाल की तबियत बिगड़ने की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था, तभी से उनकी कोर्ट में पेशी नहीं हुई है।

मामले की जानकारी देते हुए सरकारी पक्ष के वकील कल्याण बनर्जी ने बताया कि आमरी अस्पताल में इसके पहले भी आग लगी थी। तब पुलिस और अग्निशमन विभाग को सूचना देने वाले अस्पतालकर्मी को बर्खास्त कर दिया गया था। अस्पताल प्रबंधन द्वारा कर्मियों को आग लगने की सूचना पुलिस और अग्निशमन विभाग को देने से मना किया था। इससे निदेशकों के इरादे साफ होते हैं।

आमरी हादसे का शिकार लापता

कोलकाता: एडवांस मेडिकल रिसर्च इंस्टीट्यूट [आमरी] अस्पताल अग्निकांड में मारे गए त्रिपुरा के संतोष दास [26] के शव को जमीन खा गई है या आसमान निगल गया है, यह बताने वाला कोई नहीं है। संतोष के मौत की पुष्टि हो चुकी है, लेकिन उसका शव कहां गया, इसकी जानकारी किसी को नहीं है। मृतक के भाई परितोष दास का कहना है कि पुलिस की ओर से शव मिलने की सिर्फ तारीख दी जा रही है। 11 दिन बाद भी संतोष के शव का पता नहीं चल पाया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप