नई दिल्‍ली, एएनआइ। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) ने रविवार को पूर्वोत्तर की विभिन्न क्षेत्रीय क्षमताओं- पारिस्थितिकी, पर्यटन, संस्कृति, विरासत और कारोबार की विशिष्टता को दिखाने वाले चार दिन के कार्यक्रम 'डेस्टिनेशन नॉर्थ-ईस्ट 2020' का उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्‍होंने कहा कि पूर्वोत्तर भारतीय संस्कृति का आभूषण है और पूर्वोत्तर के बिना भारतीय संस्कृति अधूरी है। वर्चुअल माध्‍यम के जरिए हुए इस उद्घाटन कार्यक्रम में असम के मुख्‍यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल (Assam CM Sarbananda Sonowal) भी शामिल हुए।

'डेस्टिनेशन नॉर्थ-ईस्ट 2020' पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास मंत्रालय का एक वार्षिक कार्यक्रम है जिसका उद्देश्य पूर्वोत्तर क्षेत्र को देश के अन्य हिस्सों तक लेकर जाना, पर्यटन को बढ़ावा देना और राष्ट्रीय एकीकरण को मजबूती देना है। यह कार्यक्रम मुख्य रूप से पर्यटन पर केंद्रित है और संयोग से विश्व पर्यटन दिवस (27 सितंबर) के दिन ही शुरू किया गया है। इस कार्यक्रम के मौके पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि पूर्वोत्तर संस्कृति भारतीय संस्कृति का आभूषण है। भारतीय संस्कृति की कल्पना नहीं की जा सकती है जब तक कि पूर्वोत्तर संस्कृति से इसका मिलन नहीं हो...

डेस्टिनेशन नॉर्थ-ईस्ट 2020 (Destination North East 2020 fest) कार्यक्रम में हस्तकला, पारंपरिक फैशन और स्थानीय उत्पादों की डिजिटल प्रदर्शनी भी होगी। चार दिवसीय इस कार्यक्रम में राज्यों और क्षेत्र के पर्यटन स्थलों की ऑडियो विजुअल प्रस्तुति, राज्य के प्रसिद्ध और उपलब्धियां हासिल करने वाले व्यक्तियों के संदेश, प्रमुख स्थानीय उद्यमियों से परिचय भी कराया जाएगा। उद्घाटन कार्यक्रम के मौके पर शाह ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पूर्वोत्‍तर राज्‍यों के विकास को लेकर प्रतिबद्ध है।