अहमदाबाद, राज्य ब्यूरो। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने गुजरात के गांधीनगर में 12 सौ बेड के स्पेशल कोविड हास्पिटल का उद्घाटन किया। इसे टाटा संस और रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) की मदद से तैयार किया गया है। केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री राहत कोष से गुजरात में 11 ऑक्सीजन पीएसए प्लांट लगाने की मंजूरी दी है। यही नहीं, कृभको सूरत के हजीरा व उतर प्रदेश के शाहजहांपुर में एक-एक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करेगा। शाह शुक्रवार से गुजरात की यात्रा पर हैं।

उन्होंने अहमदाबाद में 900 कोविड बेड के उद्घाटन के बाद शनिवार को गांधीनगर स्थित हेलीपैड ग्राउंड के पास टाटा संस एवं रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन की ओर से तैयार किये गये 12 सौ बेड के स्पेशल कोविड-हास्पिटल का उद्घाटन किया। इसमें 600 बेड आइसीयू के हैं। शाह ने गांधीनगर के कोलवडा आयुर्वेदिक हास्पिटल में एक ऑक्सीजन प्लांट का भी उद्घाटन किया। इसकी क्षमता 280 लीटर पीएसए की है।

शाह ने बताया कि केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री राहत कोष से गुजरात में 11 ऑक्सीजन पीएसए प्लांट लगाने की मंजूरी दे दी है। अमित शाह ने 10 करोड़ रुपये की लागत से अपने लोकसभा क्षेत्र में स्वास्थ्य संबंधी साधन उपलब्ध कराए हैं। इससे अहमदाबाद के 160, गांधीनगर के 100, साणंद, बावला, कलोल व गांधीनगर नगरपालिका के आठ लाख से अधिक लोगों को सुविधा मिल सकेगी।

उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल कोरोना संक्रमित

गुजरात के उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल कोरोना संक्रमित पाये गये हैं। यह जानकारी उन्होंने इंटरनेट मीडिया के जरिए दी। पटेल ने कोरोना के लक्षण दिखने पर जांच कराई थी जो पाजिटिव आई है।

बता दें कि देश में इस वक्त कोरोना वायरस की तीसरी लहर चल रही है। लगातार तीन लाख से ज्यादा मामले देश में दर्ज किए गए जा रहे है। स्थिति बेकाबू होती जा रही है। हाहाकार जैसे बन रहे हालात के चलते अस्पतालों में स्थिति बिगड़ रही है। देश के अधिकतर राज्यों में मरीजों को बेड, ऑक्सीजन, वेंटिलेटर भी समय पर नहीं मिल पा रहे है। स्थिति यहां तक पहुंच गई है कि ऑक्सीजन की कमी के चलते मरीजों की जान जा रही है। ऐसे में सरकार की तरफ से भी हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं कि मरीजों को सभी सुविधाएं मिले। 

कोरोना के खिलाफ लड़ाई में कई राज्यों की तरफ से ऑक्सीजन की कमी का मुद्दा उठाने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा था कि जल्द ही ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए रेलवे और वायुसेना को भी लगाया है। इस दौरान पीएम ने कहा था कि ऑक्सीजन की सप्लाई में लगने वाले समय को कम करने के लिए युद्धस्तर पर काम किया जा रहा है। इसके लिए रेलवे और वायुसेना को भी लगाया गया है। स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही और टैंकरों की एयरलिफ्टिंग की जा रही है।  

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप