नई दुनिया प्रतिनिधि, बिलासपुर। मरवाही विधानसभा उपचुनाव में उम्मीदवार एवं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के प्रदेश अध्यक्ष अमित जोगी और उनकी पत्नी ऋचा जोगी के नामांकन पत्रों को कलेक्टर सह जिला निर्वाचन अधिकारी डोमन सिंह ने खारिज कर दिया है। दोनों के जाति प्रमाण पत्र को लेकर कांग्रेस प्रत्याशी डा. केके ध्रुव व राष्ट्रीय गोंडवाना गणतंत्र पार्टी की उम्मीदवार उर्मिला मार्को ने आपत्ति दर्ज कराई थी।

शनिवार को गौरेला जिला मुख्यालय परिसर में सुबह से ही गहमा-गहमी का माहौल रहा। नामांकन पत्रों की जांच के लिए शनिवार का समय निर्धारित था। वकीलों ने बताया कि राज्य स्तरीय छानबीन समिति द्वारा 15 अक्टूबर को प्रदेश के पहले मुख्यमंत्री अजीत जोगी के पुत्र अमित के अनुसूचित जनजाति वर्ग के प्रमाण पत्र को रद करने के आदेश दिया जा चुका है। इसलिए नामांकन निरस्त किया जाना चाहिए। नामांकन पत्र की वैधता को लेकर कलेक्टर कोर्ट में दोनों पक्षों की ओर से तकरीबन दो घंटे तक बहस चली। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद कलेक्टर ने अमित का नामांकन निरस्त कर दिया।

ऋचा जोगी के नामांकन पत्र की वैधता पर बतौर वकील अमित जोगी ने दस्तावेज पेश करने के लिए दो दिन का समय मांगा परंतु वकीलों ने बताया कि जिला स्तरीय छानबीन समिति ने बताया कि ऋचा के प्रमाण पत्र को निलंबित करने के साथ ही प्रमाण पत्र को शून्य घोषित किया जा चुका है और आवेदक को किसी भी प्रकार का लाभ नहीं मिलेगा। अमित ने फैसले पर निराशा जताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल अकेले ही कुश्ती लड़ कर जीतना चाहते हैं। मुख्यमंत्री के इशारे पर कलेक्टर ने यह फैसला लिया है। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस