नई दिल्ली, एजेंसी। नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर भारत और पाकिस्तान की सेनाओं के बीच हालिया झड़पों से दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर है। इसका असर अब दिवाली पर दी जाने वाली शुभकामनाओं में भी देखने को मिल रहा है। ऐसा लगता है कि इस दिवाली एलओसी पर उपहार और मिठाइयों की जगह केवल पटाखे हैं। एक प्रोटोकॉल के रूप में, हर साल इस्लामाबाद में भारतीय उच्चायोग सभी महत्वपूर्ण पाकिस्तानी गणमान्य लोगों को दिवाली की मिठाई भेजता है। आईएसआई [इंटर-सर्विसेज इंटेलिजेंस] प्रोटोकॉल ने शुरुआत में मिठाई स्वीकार की, लेकिन आज यानी बुधवार को सभी वापस आ गई।

ISI पाकिस्तान की प्रमुख खुफिया एजेंसी है जो पाकिस्तान सेना के नियंत्रण में है। सूत्रों ने कहा कि रेंजर्स, पाकिस्तान की सीमा सुरक्षा बल, जो वाघा बॉर्डर पर तैनात हैं, उन्होंने भी तमाम गिफ्ट्स को लेने से इनकार कर दिया। बता दें कि पाकिस्तान, भारत के आंतरिक मामले यानी जम्मू-कश्मीर में मध्यस्थता चाह रहा था। जहां राज्य से अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के बाद दोनों देशों के बीच संबंध तनावपूर्ण चल रहे हैं। इमरान खान सरकार जम्मू-कश्मीर राज्य के विशेष अधिकारों को समाप्त करने के भारत सरकार के फैसले से बौखलाई हुई है। Article 370 को समाप्त करने की घोषणा होने के बाद से ही एलओसी पर संघर्ष विराम उल्लंघन का सिलसिला जारी है।

दोनों सेनाओं के बीच सबसे हालिया संघर्ष के बात करे तो सोमवार सुबह जानकारी मिली की पाकिस्तान सेना शनिवार रात से ही टंगडार में गोलाबारी कर भारत में आतंकवादियों को घुसपैठ कराने की कोशिश कर रही थी, जिसे सेना ने नाकाम बना दिया था। इस दौरान एक मोर्टार सैन्य चौकी के पास फटने से दो सैनिक घायल हो गए। बाद में वे शहीद हो गए। फिर इसके बाद भारत की जवाबी कार्रवाई पाकिस्तान पर भारी पड़ती गई। भारतीय सेना ने नियंत्रण रेखा पर उड़ी के टंगडार सेक्टर में अपने दो सैनिकों की शहादत और एक नागरिक की मौत का बदला चंद घंटों में लेते हुए पाकिस्तान को कड़ा सबक सिखाया।

बड़ी जवाबी कार्रवाई करते हुए भारत ने गुलाम कश्मीर की नीलम और लीपा घाटी में आतंकियों के चार लांचिंग पैड को पूरी तरफ तबाह कर दिया। इस कार्रवाई में करीब 10 पाकिस्तानी सैनिकों और हिजबुल और जैश के 35 आतंकियों के मारे जाने की भी सूचना मिली। वहीं, पाक सेना की दो बटालियन पंजाब रेजिमेंट और मुजाहिद रेजिमेंट को भारी नुकसान पहुंचा।

Posted By: Nitin Arora

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप