नई दिल्‍ली, एजेंसियां। देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले डराने लगे हैं। बीते 24 घंटे में कोरोना के 14,199 नए मामले सामने आए हैं जबकि 83 लोगों की मौत हो गई है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय की मानें तो देश में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 1.10 करोड़ से ज्यादा हो गया है। वहीं मृतकों की संख्‍या 1,56,385 हो गई है। एकबार फिर कोरोना की मार स्‍कूलों पर पड़ी है। महाराष्‍ट्र के पुणे और नागपुर में स्‍कूलों को बंद रखने के निर्देश जारी हुए हैं जबकि कई राज्‍यों में स्‍कूलों को खोलने की तैयारी है।

महाराष्‍ट्र में स्‍कूलों पर फिर लगा ग्रहण

अमरावती में आवश्यक सामान की दुकानों को छोड़कर सभी दुकानें, सरकारी और निजी शैक्षणिक संस्थान, कोचिंग सेंटर, ट्रेनिंग स्कूल बंद रहेंगे। पुणे में भी 28 फरवरी तक सभी स्कूल, कॉलेज और कोचिंग सेंटर बंद कर दिए गए हैं। यही नहीं नागपुर में भी अगले सात मार्च तक सभी स्कूल-कॉलेजों को बंद रखने का फैसला किया गया है।

हरियाणा में 24 फरवरी से खुलेंगे प्राइमरी स्‍कूल

हरियाणा में 24 फरवरी से तीसरी से पांचवीं तक की कक्षाएं शुरू करने का फैसला किया गया है। कक्षाएं सुबह 10 से दोपहर 1:30 बजे तक लगेंगी। शिक्षा विभाग की ओर से जारी निर्देश के मुताबिक विद्यालय में आने से पूर्व विद्यार्थी द्वारा अपने माता-पिता/अभिभावकों की लिखित अनुमति देनी होगी। ऐसे विद्यार्थी जो ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई जारी रखना चाहते हैं उनके लिए ऑनलाइन सुविधा जारी रहेगी।

थर्मल स्केनिंग अनिवार्य

हरियाणा के शिक्षा विभाग ने अपने निर्देश में यह भी कहा है कि विद्यार्थियों को स्‍कूलों में मौजूद होने के लिए बाध्य नहीं किया जाएगा। स्कूलों में शिक्षकों, अन्‍य स्‍टॉफ एवं बच्‍चों को कोविड प्रोटोकाल का पूर्ण पालन करना होगा। यही नहीं विद्यार्थियों और शिक्षकों की नियमित थर्मल स्केनिंग कराई जाएगी। बुखार होने की स्थिति में स्कूल के भीतर दाखिल नहीं होने दिया जाएगा।

यूपी में पहली मार्च से खुल रहे परिषदीय स्‍कूल

वहीं उत्‍तर प्रदेश में भी परिषदीय विद्यालय पहले की तरह एक मार्च से खुलने जा रहे हैं। स्‍कूलों को रंगीन गुब्‍बारों, फूलों और झालरों से सजाया जाएगा। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कक्षा 1 से 5 तक के परिषदीय विद्यालयों को पहले की तरह तरह एक मार्च से संचालित किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।

बिहार में एक मार्च से खुलेंगे स्‍कूल

बिहार में भी पहली से पांचवीं कक्षा तक के स्कूल एक मार्च से खुल जाएंगे। स्कूलों को कोरोना से बचाव के सभी नियमों का पालन करना होगा। कक्षा एक से पांच के स्कूलों में भी बच्चों की 50 फीसद उपस्थिति की ही अनुमति होगी। मालूम हो कि चार जनवरी से कक्षा नौंवी से 12 तक के स्कूल, कॉलेज और कोचिंग संस्थान खोलने का फैसला किया गया था। यही नहीं आठ फरवरी से कक्षा 6 से 8वीं तक के स्कूलों को 50 फीसद उपस्थिति के साथ खोलने का फैसला हुआ था।

झारखंड में एक मार्च से खुल रहे स्‍कूल

झारखंड में भी एक मार्च से स्कूल-कॉलेज, आइटीआइ, पोलिटेक्निक, सभी प्रशिक्षण संस्थान, कौशल विकास केंद्र तथा कोचिंग संस्थान खुल जाएंगे। यही नहीं इसी तारीख से सिनेमा हॉल और पार्क भी खुलेंगे। फिलहाल कक्षा आठ, नौ और 11वीं को खोलने के लिए भी अनुमति मिली है। हालांकि विद्यार्थियों के लिए अभिभावकों की सहमति अनिवार्य होगी।

गुजरात में भी खुलीं कक्षा-6 से 8वीं की कक्षाएं

गुजरात में कक्षा-6 से 8वीं की कक्षाएं भी गुरुवार से शुरू हो गई हैं। मालूम हो कि दीपावली के बाद 10वीं और 12वीं के लिए स्कूल खोल दिए गए थे। बाद में कक्षा 9 और कक्षा 11 के लिए भी स्कूल खोल दिए गए थे। हालांकि जारी आदेश के मुताबिक अभिभावकों की मंजूरी के बाद ही छात्र छात्राओं को स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा। स्कूलों में शारीरिक दूरी, सैनिटाइजिंग और मास्क पहनने गाइडलाइन का पालन अनिवार्य किया गया है।