नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। सर्दियों में हर किसी की रसोई में पकने वाले व्यंजन में हरा धनिया डाला जाता है। खाने का स्वाद और खुुुुशबू के लिये भोजन में हरे धनिये की चटपटी चटनी भी बनायी जाती है। आपके घर में भी ऐसा ही होता है न और हो भी क्यों नहीं धनिया हर व्यंजन को लज्जतदार तो बनाता ही है साथ में उसे सुंदरता भी प्रदान करता है। धनिये का सिर्फ स्वाद ही बेहतरीन नहीं होता बल्कि ये एक औषधीय पौधा भी है जो कई गुणों से युक्त है। इसके सेवन से कई रोगों से छुटकारा मिल सकता है। इसमें प्रोटीन, वसा, फाइबर, कार्बोहाइड्रेट, मिनरल आदि होता है।

इसके अलावा हरे धनिया में कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन, कैरोटीन, थियामीन, पोटोशियम और विटामिन सी भी पाया जाता हैं। आपको बता दें कि धनिया का इस्तेमाल कर इस बात का पूरा ध्यान रखना चाहिए कि इसकी पत्तियां अच्छी तरह से साफ की गई हो। अगर इसमें मिट्टी के कण लगे रहेंगे तो आपको कई बीमारियां घेर सकती है। आइए जानते हैं कि धनिया के पत्ते का किस तरह से प्रयोग करने से हमें फायदा मिल सकता है?

हरे धनिये के फायदे

पाचनशक्ति बढ़ाएं

हरा धनिया पेट की समस्याओं का निवारण करता है, यह पाचनशक्ति बढ़ाता है। धनिये के ताजे पत्तों को छाछ में मिलाकर पीने से बदहजमी, मतली, पेचिश और कोलाइटिस में आराम मिलता है। हरा धनिया, हरी मिर्च, कसा हुआ नारियल और अदरक की चटनी बनाकर खाने से अपच के कारण पेट में होने वाले दर्द से आराम मिलता है। पेट में दर्द होने आधा गिलास पानी में दो चम्मच धनिया डालकर पीने से पेट दर्द से राहत मिलती है।

कोलेस्ट्रॉल को कम करता है

हरे धनिये में ऐसे तत्व है जो शरीर से कोलेस्ट्रॉल को कम कर देता है या उसे कंट्रोल में रखता है। अध्ययन के अनुसार, धनिया के बीजों में कोलेस्ट्रॉल को मेंटेन किए रखने के तत्व होते है। अगर कोई व्यक्ति हाई कोलेस्ट्रॉल से ग्रस्त है तो उसे धनिया के बीजों को उबालकर उसका पानी पीना चाहिए।

डायबिटीज में लाभदायक

धनिये को डायबिटीज का नाश करने वाला भी कहा जाता है। डायबिटीज से पीड़ित व्‍यक्तियों के लिए तो यह वरदान है। इसके नियमित सेवन से ब्लड में इंसुलिन की मात्रा नियंत्रित रहती है। धनिया पाउडर, बॉडी से शुगर के स्तर को कम कर देता है और इन्सुलिन की मात्रा को बढ़ाता है।

किडनी की समस्‍या में लाभकारी

धनिया खाने से किडनी स्वस्थ रहती है। शोध बताते हैं कि नियमित रूप से धनिये का उपयोग करने वालों में किडनी की समस्या ना के बराबर होती है। इसलिए किडनी की समस्याओं से पी‍ड़‍ित व्‍यक्तियों को धनिये का उपयोग जरूर करना चाहिए।

एनीमिया दूर करें

धनिये में आयरन भरपूर मात्रा में होता है। इसके नियमित सेवन से एनीमिया को दूर करने में मदद मिलती है। साथ ही एंटी ऑक्‍सीडेंट, मिनरल, विटामिन ए और सी से भरपूर होने के कारण धनिया कैंसर से भी बचाव करता है।

आंखों की रोशनी बढ़ाएं

रोजाना हरे धनिये का प्रयोग अपने खाने में करने से आंखों की रोशनी बढऩे लगती है। क्योंकि हरे धनिये में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है जो आंखों के लिए बहुत आवश्यक होता है।

मुंहासों से छुटकारा

यदि आपके चेहरे पर मुहांसे है तो धनिया से आपके राहत मिल सकती है। इसके लिए धनिये की पत्तियों को पीसकर लें। इस पेस्ट में चुटकी भर हल्दी पाउडर मिलाकर चेहरे पर दिन में कम से कम 2 बार लगाएं। इससे मुहांसो की समस्या दूर होती है और यह ब्लैकहेड्स को भी हटाता है। धनिया की पत्तियां, झुर्रियों को दूर भगाती है। इनमें एंटी-ऑक्सीडेंट काफी मात्रा में होता है जिसके चलते इन्हें लगाने से त्वचा में खिचांव आ जाता है। इसे लगाने से चेहरे पर कोई दाग भी नहीं पड़ता है।

त्वचा के लिए फायदेमंद

एंटीसेप्टिक और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण धनिया त्‍वचा के लिए भी फायदेमंद होता है। इससे मुंहासों की समस्‍या के साथ-साथ ब्‍लैकहेड्स की समस्‍या भी दूर होती है। इसके लिए धनिये की पत्तियों के रस में हल्दी का चूर्ण मिलाकर चेहरे पर लगाएं और कुछ देर चेहरे पर लगे रहने के बाद धो लें।

विभिन्‍न प्रकार की जलन में लाभकारी

धनिया हाथ पैर की जलन, एसिडिटी, आंखों की जलन, यूरिन की जलन और सिरदर्द को दूर करने में लाभकारी होता है। इसके लिए सौंफ, मिश्री व धनिया के बीजों को समान मात्रा मिलाकर चूर्ण बना कर एक चम्‍मच प्रतिदिन भोजन के बाद लेने से फायदा होता है।

धनिये का सिर्फ स्वाद ही बेहतरीन नहीं होता बल्कि ये एक औषधीय पौधा भी है जो कई गुणों से युक्त है।

Posted By: Sanjay Pokhriyal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस