रायपुर, एएनआइ। कोविड-19 के मरीजों के लिए छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) को 10,000 पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्यूमेंट (Personnel Protective Equipment) किट प्रदान की गई है। रायपुर लोकसभा एमपी सुनिल सोनी ने शनिवार को कोरोना वायरस रिसर्च एंड डायग्नोस्टिक लैब का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने राज्य में  कोरोना वायरस की ताजा स्थिति पर चर्चा की। इस बीमारी से लड़ने के लिए  एम्स अस्पताल के तरफ से किए जा रहे सभी प्रयासों की उन्होंने तारीफ की। इसके साथ ही केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से हरसंभव मदद करने का आश्वसान दिया।

सुनिल सोनी ने राज्य के स्वास्थ्य मंत्री टी.एस,सिंह देव साथ पीपीई किट की कमी पर चर्चा की। सिंह देव से उन्होंने प्राथमिकता के साथ 20,000 पीपीइ किट प्रदान करने का अनुरोध किया। सिंहदेव ने अनुरोध स्वीकार कर लिया और आश्वासन दिया कि 10,000 पीपीई तुरंत प्रदान की जाएगी।

सोनी ने एम्स में कोरोनो वायरस पॉजिटिव मरीजों के सैंपल कलेक्शन, टेस्टिंग और एडमिट करने के दौरान उठाए गए विभिन्न कदमों की जानकारी ली। उन्होंने कहा, "डॉक्टर और शोधकर्ता वीआरडी लैब में कड़ी मेहनत कर रहे हैं। उनके प्रयास वास्तव में बहुत सराहनीय हैं क्योंकि वे अपने घर से बाहर हैं और दिन रात काम कर रहे हैं। यह एम्स परिवार द्वारा समर्पण और अत्यधिक परिश्रम को दिखाता है"।

सोनी ने बताया कि अब तक कुल 1652 परीक्षण किए गए हैं। वीआरडीएल में हर दिन लगभग 300 नमूने परीक्षण के लिए आ रहे हैं। सोनी ने  उप निदेशक (प्रशासन) नीरेश शर्मा के साथ बातचीत की और उन्हें आश्वासन दिया कि राज्य में कोविड-19 चुनौती का मुकाबला करने के लिए संसाधनों की कमी नहीं होगी। राज्य में केंद्र सरकार की तरफ से सभी प्रकार की सुविधा दी जाएगी।

भारत में इस वक्त प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 21 दिनों का लॉकडाउन किया हुआ है। देश में 60 से ज्यादा लोगों की मौत कोरोना वायरस से हुई है। वहीं संक्रमित लोगों का आंकड़ा 3000 के पार पहुंच चुका है।

Posted By: Pooja Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस