बेंगलुरु, एएनआई। कर्नाटक सरकार ने राज्य में बढ़ते कोरोना वायरस मामलों को देखते हुए कर्नाटक में KPME के ​​तहत पंजीकृत सभी अस्पतालों को रिसेप्शन सेंटर, एक बेड आवंटन डिस्प्ले बोर्ड पर प्रदर्शन करने के लिए कहा है। जिसमें COVID-19 रोगियों के लिए बेड से संबंधित विवरण प्रदर्शित होना चाहिए। सरकार ने साफ तौर पर कहा है कि ये व्यवस्था कल से ही डिस्प्ले बोर्ड पर होनी चाहिए।

कर्नाटक में हजारों की तादाद में कोरोना संक्रमित

बात करें कर्नाटक की तो कर्नाटक में अब तक कोरोना के 44077 मामले सामने आ चुके हैं। फिलहाल, राज्य में कोरोना के  25845    एक्टिव केस हैं। कुल मामलों में से अब तक 17390 संक्रमित लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं राज्य में कोरोना के कारण 842 लोगों की मौत हो गई है। 

देश में 9 लाख के पार पहुंची कोरोना संक्रमितों की संख्या 

जानकारी के लिए बता दें कि देश में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। इस वक्त देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 9 लाख के पार पहुंच गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, देश में इस वक्त कोरोना वायरस के 319840 एक्टिव केस हैं। हालांकि, कुल मामलों में से ठीक होने वालों की संख्या अधिक है। कोरोना वायरस की चपेट में आने के बाद अब तक  592031 संक्रमित लोग ठीक हो गए हैं।

वहीं कोरोना अब तक 24309  लोगों की जान ले चुका है। गौरतलब है कि कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित होना वाला राज्य महाराष्ट है। महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख से अधिक है। महाराष्ट्र के बाद तमिलनाडु ऐसा राज्य हैं जहां लाखों की संख्या में कोरोना संक्रमित हैं। देश की राजधानी दिल्ली का भी कुछ ऐसा ही हाल है। इन हालातों को देखते हुए कई राज्यों ने एक बार फिर लॉकडाउन लागू कर दिया है। उत्तर प्रदेश में जहां शनिवार और रविवार को पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की गई है। वहीं गोवा में 10 अगस्त तक के लिए लॉकडाउन लागू कर दिया गया है। इसी के साथ बिहार में  30 जुलाई तक लॉकडाउन रहेगा। 

 

Posted By: Ayushi Tyagi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस