नई दिल्ली। दिल्ली में एक बार फिर आतंकी हमलों को लेकर अलर्ट जारी हुआ है। इसके बाद राजधानी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है। जानकारी के अनुसार यह हमला आतंक संगठन आईएस करवा सकता है जिसे कोई महिला अंजाम दे सकती है।

खूफिया सूत्रों के हवाले से खबर आई है कि आईएस की एजेंट के तौर पर काम कर रही है एक कनाडाई सिख महिला दिल्ली में बम धमाकों की घटना को किसी भी समय अंजाम दे सकती है। उसके पास पासपोर्ट भी है जिसकी मियाद दिसंबर 2016 में खत्म हो रही है।

पढ़ें: मुंबई में आतंकी हमले की आशंका, पुलिस ने जारी किया अलर्ट

आपको बता दें कि आतंकी संगठन के कुछ एजेंट पहले से ही राजधानी में छिपकर रह रहे हैं। खबर मिलते ही एयरपोर्ट्स पर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है, जिसमें साफ कहा गया है कि 35 साल की एक महिला किसी अनहोनी घटना को अंजाम दे सकती है। इसमें उसकी मदद आईएस के अन्य सदस्य भी कर सकते हैं। आईएस से संपर्क रखने वाले करीब 25 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को भी इस संबंध में सूचना दे दी गई है। महिला के दिल्ली में प्रवेश के संभावित रास्तों का मैप तैयार कर दूसरे देशों से संपर्क भी साधा गया है।

गौरतलब है कि हमारी सुरक्षा एजेसिंया पहले से भी लोगों को आगाह कर चुकी हैं कि बाहरी देशों में रह रहे भारतीय को आईएस के लड़ाकू किसी न किसी तरह का लालच देकर अपनी ओर आकर्षित कर रहे हैं। आकंड़ों के मुताबिक, अब तक 24 भारतीय आईएस में शामिल हो चुके हैं, जिनमें से 6 अलग-अलग घटनाओं में मारे जा चुके हैं। जबकि दो वापस आ गए, कहा जा रहा है कि 16 अभी भी आईएस का हिस्सा हैं।

पढ़ें: केरल हादसे के बाद पटना में अलर्ट

एक खुफिया अधिकारी ने बताया कि ऐसा पहली बार है जब किसी सिख महिला को आतंकी संगठन ने अपनी ओर आकर्षित किया है। इसके पहले ऑस्ट्रेलिया में रहने वाली आदिल फयाज वादा नाम की एक महिला जिहादी बनने के लिए सीरिया की यात्रा पर निकली थी। गौरतलब है कि 6 अप्रैल को भी एक अलर्ट जारी हुआ था, जिसमें कहा गया था कि एक स्विफ्ट कार में आतंकी सवार होकर निकले हैं और ये आतंकी दिल्ली, गोवा और मुंबई को निशाना बना सकते हैं।

(साभार- नई दुनिया)

Posted By: kishor joshi