नई दिल्ली, आइएएनएस। यूपीए सरकार में आठ साल तक रक्षा मंत्री रहे कांग्रेस नेता एके एंटनी का कहना है कि नियंत्रण रेखा पर सुरक्षा को लेकर जो व्यवस्था की गई है वह लचर है। उनका मानना है कि तभी सीमा पार से बार-बार आतंकी संगठन भारतीय सीमा में आने का दुस्साहस दिखा पा रहे हैं।

एंटनी का कहना है कि पाकिस्तान की सेना व आतंकी संगठन लगातार भारतीय सेना व लोगों का मनोबल तोड़ने का काम कर रहे हैं जबकि उनके कार्यकाल के दौरान इस तरह का माहौल नहीं था। पूर्व रक्षा मंत्री ने उदाहरण दिया कि जब कांग्रेस केंद्र में सत्तासीन थी तब सैनिकों के शव क्षतविक्षत करने का केवल एक मामला सामने आया था, लेकिन मोदी सरकार के दौरान इस तरह की तीन घटनाएं हो चुकी हैं।

एंटनी ने कहा कि सोमवार को पाक सेना की बार्डर एक्शन टीम की हरकत बेहद शर्मनाक है। भारत की सीमा में घुसकर जिस तरह से दो सैनिकों की हत्या कर उनके शवों को क्षतविक्षत करने का काम हुआ है उसके बाद भारतीय सेना की प्रतिष्ठा पर सवालिया निशान लग रहा है। कांग्रेस नेता ने अपील की कि सरकार को चाहिए कि वह सेना को कार्रवाई के लिए अनुमति प्रदान करे।

इससे पहले, कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने भी केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया था। सिब्‍बल ने कहा, 'जब 2013 में हेमराज का सिर काटा था, सुषमा जी ने कहा था कि एक के बदले 10 लाएंगे। मैं पीएम से पूछना चाहता हूं कि 2 के बदले कितने?' वहीं उन्‍होंने यह भी कहा कि देश का जब फुल टाइम डिफेंस मिनिस्‍टर होगा तभी तो फुल टाइम स्‍ट्रैटजी होगी। 

गौरतलब है कि सोमवार सुबह पाक की बार्डर एक्शन टीम (बैट) ने भारतीय क्षेत्र में घुसकर शहीद जवानों के शवों के साथ बर्बरता की थी। 

यह भी पढ़ें: जवानों के सिर काटे जाने पर सिब्‍बल ने कसा तंज, पीएम से पूछा- 2 के बदले कितने?

Posted By: Manish Negi