नई दिल्ली, जागरण न्यूज नेटवर्क। कोरोना वायरस का प्रसार रोकने के लिए लागू 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि पूरी होने के बाद एयरलाइन कंपनियों और रेलवे ने अपनी सेवाएं चरणबद्ध तरीके से शुरू करने की तैयारी शुरू कर दी हैं। एयरलाइनों ने जहां टिकटों की बुकिंग शुरू कर दी है वहीं रेलवे ने यात्री ट्रेनें बहाल करने की तैयारी प्रारंभ कर दी है। हालांकि उनका संचालन सरकार के फैसले पर ही निर्भर करेगा।

रेलवे ने कहा कि अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया 

रेलवे ने शनिवार को एक बयान जारी कर बताया कि यात्री ट्रेनें बहाल करने पर अभी कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है, लेकिन उसके सभी जोनों ने उनके संचालन की योजना बनानी शुरू कर दी हैं। रेलवे ने यह बयान रेल मंत्री पीयूष गोयल और रेलवे बोर्ड के चेयरमैन व अन्य अधिकारियों के बीच शुक्रवार को हुई वीडियो कांफ्रेंस के मद्देनजर जारी किया है। बैठक में फैसला किया गया कि यात्री ट्रेन सेवाएं चरणबद्ध तरीके से बहाल की जाएंगी। एक अधिकारी ने बताया, 'रेलवे बोर्ड से हर ट्रेन के बारे में विशिष्ट मंजूरी मिलने के बाद ही ट्रेन सेवाओं को बहाल किया जाएगा।' 

रेलवे के सभी जोन में सेवा बहाल करने की योजना 

रैकों की उपलब्धता को ध्यान में रखते हुए रेलवे के सभी 17 जोन और डिवीजन ट्रेनों की पहचान करने और 15 अप्रैल से उनकी सेवाएं बहाल करने की योजना बना रहे हैं। उदाहरण के तौर पर उत्तर रेलवे की फिरोजपुर डिवीजन ने अमृतसर, जम्मू तवी, श्री वैष्णो देवी कटरा और फिरोजपुर रेलवे स्टेशनों पर उपलब्ध रैकों की उपलब्धता के आधार पर 23 ट्रेनों को बहाल करने की योजना बनाई है। इनमें सहरसा गरीब रथ एक्सप्रेस, नई दिल्ली एक्सप्रेस, बनमनखी जनसेवा एक्सप्रेस, हरिद्वार एक्सप्रेस, कटिहार एक्सप्रेस, जयनगर सरयू यमुना एक्सप्रेस, सहरसा साप्ताहिक जनसाधारण एक्सप्रेस, बिलासपुर छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस, दरभंगा जननायक एक्सप्रेस, देहरादून एक्सप्रेस और पठानकोट रावी एक्सप्रेस शामिल हैं।

इसी तरह, दिल्ली डिवीजन ने 200 ट्रेनों को बहाल करने की योजना बनाई है। इनमें अमृतसर शताब्दी एक्सप्रेस, सरबत दा भाला एक्सप्रेस, नई दिल्ली-रांची राजधानी एक्सप्रेस, रीवा एक्सप्रेस और जम्मू राजधानी एक्सप्रेस शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि ट्रेन सेवा बहाल होने पर सभी यात्रियों की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी और सरकार द्वारा सुझाए गए सभी प्रोटोकॉल पर अमल किया जाएगा।

एयर एशिया की 15 अप्रैल के बाद बुकिंग शुरू  

इस बीच, किफायती एयरलाइन एयर एशिया ने कहा है कि 15 अप्रैल से उसकी उड़ानों की बुकिंग खुली हुई है, लेकिन अगर विमानन नियामक डीजीसीए ने नए दिशानिर्देश जारी किए तो इसमें किसी भी तरह का बदलाव किया जा सकता है। कई अन्य एयरलाइनों ने भी 15 अप्रैल और उसके बाद की उड़ानों की बुकिंग करनी शुरू कर दी हैं। इंडिगो, स्पाइस जेट और गोएयर ने कहा है कि उन्होंने 15 अप्रैल और उसके बाद की अपनी घरेलू उड़ानों की बुकिंग प्रारंभ कर दी है। वहीं, स्पाइस जेट और गोएयर ने एक मई और उसके बाद की अपनी अंतरराष्ट्रीय उड़ानों की बुकिंग भी प्रारंभ कर दी है। मालूम हो कि नागरिक विमानन सचिव प्रदीप सिंह खरोला ने गुरुवार को कहा था कि एयरलाइनें 14 अप्रैल के बाद किसी भी तारीख के लिए टिकट बुकिंग करने के लिए स्वतंत्र हैं।

विदेश के लिए 18 चार्टर्ड फ्लाइट संचालित करेगा एयर इंडिया

भारत में फंसे विदेशियों को उनके देशों तक पहुंचाने और चीन में शंघाई से महत्वपूर्ण मेडिकल कार्गो लाने के लिए संचालित अपनी चार्टर्ड फ्लाइटों के लिए एयर इंडिया ने अपने सभी उपलब्ध संसाधनों को सक्रिय कर दिया है। लॉकडाउन के दौरान भारत में फंस गए जर्मन, फ्रेंच, आयरिश और कनाडाई नागरिकों को उनके दूतावासों के अनुरोध पर स्वदेश पहुंचाने के लिए एयर इंडिया की योजना 18 चार्टर्ड फ्लाइटों के संचालन की है। एयर इंडिया की ओर से जारी बयान के मुताबिक, इस दौरान डीजीसीए की ओर से तय सभी सुरक्षा प्रोटोकॉल का अनुपालन किया जा रहा है।

Posted By: Arun Kumar Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस