नई दिल्ली, प्रेट्र। भारतीय वायु सेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की बहादुरी को सम्मान देने के लिए उनकी यूनिट मिग-21 बायसन स्क्वॉड्रन 'एमराम डोजर्स' और 'फॉल्कन स्लेयर्स' लिखे नए शोल्डर पैच का इस्तेमाल कर रही है। अभिनंदन ने 27 फरवरी को पाकिस्तान के एफ-16 फाइटर जेट को मार गिराया था।

वायुसेना ने विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान के लिए युद्धकालीन वीरता पुरस्कार 'वीर चक्र' की सिफारिश की है। वीर चक्र युद्ध के समय वीरता के लिए सेना में दिया जाने वाला परम वीर चक्र और महावीर चक्र के बाद तीसरा सर्वोच्च सम्मान है।

वायु सेना के 51वें स्क्वॉड्रन के यूनिफॉर्म के शोल्डर पैच पर मिग-21 बनाया गया है। लाल रंग में एफ-16 को गिरता हुआ दर्शाया गया है। पैच के ऊपर एमराम डॉजर लिखा है, जबकि नीचे फॉल्कन स्लेयर्स लिखा हुआ है। इसका मतलब क्रमश: एमराम मिसाइलों को छकाने वाला और फॉल्कन को मार गिराने वाला है। बायसन और सुखोई ने एफ-16 से छोड़ी गई एमराम मिसाइलों को छका दिया था। इसलिए यूनिट खुद को एमराम डॉजर यानी एमराम मिसाइलों को छलावा देने वाला भी बता रही है।

अधिकारियों ने बताया कि कोई भी स्क्वॉड्रन अपनी उपलब्धियों और सफलता को दर्शाने वाले इस तरह के शोल्डर पैच ला सकता है। भारतीय वायु सेना आधिकारिक तौर पर इस तरह के पैच नहीं जारी करती।

अभिनंदन मिग-21 बायसन स्क्वॉड्रन का हिस्सा थे। उन्होंने 27 फरवरी को पाकिस्तान के एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराया था। 26 फरवरी को बालाकोट में भारतीय वायु सेना के हमले के बाद पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर में सैन्य ठिकानों को निशाना बनाने की कोशिश की थी।

पाकिस्तानी लड़ाकू विमान को खदेड़ने के दौरान अभिनंदन एलओसी पार कर गए थे। इसके बाद पाक सेना ने उन्हें बंधक बना लिया था। लगभग 60 घंटे बाद एक मार्च को उनकी भारत में वापसी हुई थी। अब उनकी जम्मू-कश्मीर से बाहर राजस्थान के सूरतगढ़ एयरबेस में पोस्टिंग की गई है।

 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhupendra Singh