हैदराबाद, एजेंसी। कोरोना वायरस के महामारी के दौरान कोरोना योद्धा का फर्ज निभा रहे पुलिसकर्मियों का जहां एक तरह सम्मान हो रहा है तो वहीँ दूसरी तरफ हैदराबाद से पुलिस के साथ बदसलूकी का वीडियो वायरल हो रहा है। पुलिस को धमकाने का काम किसी और ने नहीं बल्कि असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) के पार्षद मुर्तजा अली ने किया है। वीडियो सामने आने पर भाजपा ने अोवैसी को निशाने पर लेते हुए पार्षद की बर्खास्तगी की मांग की।

सोशल मीडिया पर यह वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में AIMIM पार्षद मुर्तजा अली को हैदराबाद के चवन्नी नदी अली बेग में एक मस्जिद के पास अपनी ड्यूटी कर रहे दो कॉन्स्टेबल को धमकाने और ड्यूटी में बाधा डालते हुए देखा गया। ये पूरा मामला हैदराबाद का है। वीडियो में साफ़-साफ़ दिखाई दे रहा है मोहम्मद मुर्तजा अली खुलेआम दो पुलिस कॉन्सटेबल को धमकी देते हुए नजर आ रहे थे। इन दोनों सिपाहियों की ड्यूटी कल शाम को इफ्तार के समय लगी हुई थी।

वहीं मदन्नपेट के एसएचओ संतोष कुमार ने बताया कि देशव्यापी लॉकडाउन के कारण सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए पुलिस जवानों ने मस्जिद में अंदर जाने वाले लोगों से कहा था कि 5 लोगों से ज्यादा लोगों को अंदर जाने की अनुमति नहीं है। उस दौरान करीब 10 लोग अंदर थे, जिस पर पुलिस ने आपत्ति जताई थी। इसके बाद मुर्तजा भड़क गया और पुलिस को धमकाने लगा। फिलहाल पुलिस ने मुर्तजा अली के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।

भाजपा ने की पार्षद के बर्खास्तगी की मांग

वीडियो वायरल होने पर भाजपा नेता संबित पात्रा ने ट्वीट कर कहा कि ओवैसी जी आप के अनुसार ये धर्मनिरपेक्षता हैं? एआईएमआईएम के पार्षद पुलिस वालों को अपनी ड्यूटी करने पर धमका रहें है। क्या गुनाह है इस पुलिस कर्मी का..सिर्फ़ इतना की वो मस्जिद के पास जांच करने चला गया, वहां लॉकडाउन का पालन हो रहा है या नहीं? पात्रा ने कहा कि इस पार्षद को पार्टी से बर्खास्त करें।

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस