सुरेंद्र प्रसाद सिंह, नई दिल्ली। अखिल भारतीय कृषि वैज्ञानिकों की भर्ती की ठप प्रक्रिया अब जल्दी ही चालू हो जाएगी। कृषि वैज्ञानिक चयन बोर्ड (एएसआरबी) के अध्यक्ष समेत अन्य दो प्रमुख सदस्यों की तलाश लगभग पूरी हो चुकी है। लेकिन उनके नामों का खुलासा अभी नहीं हो सका है। बोर्ड में दो सदस्यों के चयन के लिए साक्षात्कार पूरे हो गये हैं, लेकिन अभी तक किन्हीं वजहों से पैनल तैयार नहीं हो सका है।

पिछले लगभग दो सालों से एएसआरबी के मार्फत होने वाले कृषि वैज्ञानिकों की भर्ती की पूरी प्रक्रिया ठप चल रही है। इसके चलते देश के प्रमुख शोध संस्थानों में वैज्ञानिकों के साथ निदेशक जैसे जिम्मेदार पद भी रिक्त हैं। दरअसल कृषि मंत्रालय कृषि वैज्ञानिकों और आला अफसरों की पूरी नियुक्ति प्रक्रिया में सुधार कर रहा है। चयन की प्रणाली में पर्याप्त संशोधन किया गया है। मंत्रालय का मानना है कि इस संशोधन से पूरी चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता आएगी। गलत लोगों के चयन नहीं करना आसान नहीं होगा।

एएसआरबी में रिक्त सदस्यों के चयन के लिए गठित बोर्ड ने बृहस्पतिवार को ही साक्षात्कार पूरा कर लिया था। लेकिन अभी तक प्रस्तावित नामों का पैनल नहीं बन पाया है। साक्षात्कार करने वाले बोर्ड में कृषि सचिव सदस्य नामित थे। लेकिन साक्षात्कार बोर्ड में वह नहीं पहुंचे। उन्होंने अपनी जगह किसी और जूनियर अफसर को भेज दिया था। माना जा रहा है कि इसी के चलते नामों का पैनल नहीं बनाया जा सका है। जरूरी हुआ तो साक्षात्कार दोबारा कराया जा सकता है। साक्षात्कार बोर्ड की अध्यक्षता आईसीएआर के महानिदेशक डाक्टर त्रिलोचन महापात्र हैं। जबकि अन्य नामित सदस्यों में डाक्टर आरसी श्रीवास्तव, बीएस संधू और कृषि सचिव संजय अग्रवाल प्रमुख नाम हैं।

कृषि वैज्ञानिक चयन बोर्ड के अध्यक्ष पद के लिए गठित सर्च कमेटी के चेयरमैन कैबिनेट सचिव हैं। इस पद के लिए भारतीय प्रशासनिक सेवा के किसी रिटायर अफसर को नियुक्त किया जाना है। सूत्रों के मुताबिक वैसे तो कई नामों पर विचार किया जा रहा है, लेकिन उत्तर प्रदेश कैडर के आईएएस प्रभात कुमार और पूर्व कृषि सचिव शोभना पट्टनायक के नाम पर गंभीरता से विचार किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक दिसंबर के आखिरी सप्ताह तक चयन बोर्ड के सभी रिक्तियां भर दी जाएंगी। उसके अध्यक्ष और दो सदस्यों के खाली पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी कर लिए जाने की संभावना है।

 

Posted By: Sachin Bajpai

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस