जम्मू (अवधेश चौहान)। जम्मू कश्मीर का माहौल खराब करने वालों को वहां के लोगों ने ही करारा जवाब दिया है। सुंजवां में सैन्य ब्रिगेड पर हमले के बाद जम्मू के लोगों में राष्ट्रवाद की भावना सिर चढ़कर बोलने लगी है। हमला करने से पहले आतंकियों द्वारा जिस सूनी इमारत की दीवारों पर गो इंडिया, गो बैक के नारे लिखे गए थे।उन्हें पूरी तरह से मिटाकर कर अब लोगों ने उस पर वंदे मातरम, इंडियन आर्मी जिंदाबाद, आई लव माई इंडिया और जय हिंद लिख दिया है। मुस्लिम बहुल इलाके भठिंडी, नूराबाद, जलालाबाद में लिखे नारों में लोगों ने यह संदेश दिया है कि वे राष्ट्रभक्त हैं।

सुंजवां आतंकी हमले में रोहिंग्याओं का हाथ!

वे सुंजवां हमले की पुरजोर निंदा करते हैं। गो रोहिंग्या, गो बैक के नारे भी इलाके में कई जगह लिखे पाए गए हैं। हमले में रोहिंग्याओं के संलिप्त होने के आरोप लगे हैं। गौरतलब है कि सुंजवां हमले के समय इसी इलाके में भारत के खिलाफ दीवारों पर नारे लिखे पाए गए थे। इस बात को लेकर जम्मू वासियों में रोष देखने को मिला। कई संगठनों ने सड़क पर उतर विरोध भी किया।

सुरक्षा एजेंसियों की मानें तो सुंजवां हमले के तार दक्षिण कश्मीर से जुड़ते नजर आ रहे हैं। सुरक्षा एजेंसियां सैन्य ब्रिगेड की चारदीवारी के साथ लगते इलाके के लोगों को पूछताछ के लिए बुला रही हैं। एजेंसियों को लगता है कि हमलावरों ने इन्हीं इलाकों में रहकर क्षेत्र की रेकी की। सुंजवां निवासी शकील अहमद, सलीम खान, माजिद खान का कहना है कि कुछ शरारती तत्व पूरी कॉलोनी को बदनाम करना चाहते हैं। हम लोग पहले भारतीय हैं और बाद में किसी जाति के। उन्होंने कहा कि सुंजवां हमले के बाद भठिंडी पर यह उंगुली उठने लगी कि शायद हमलावर इसी इलाके के हैं, लेकिन ऐसा नहीं है, हिंदोस्तान हमारा वतन है और हम उसका अटूट अंग हैं।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस