गुवाहाटी, पीटीआइ। असम (Assam) में बुधवार को नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन्स यानी एनआरसी (National Register of Citizens, NRC) मसौदे की नई सूची जारी की गई जिसमें से 1,02,462 लोगों को बाहर कर दिया गया है। इसमें उन लोगों के नाम शामिल हैं जिनके नाम पिछले साल जुलाई में प्रकाशिक मसौदे में शामिल थे लेकिन बाद में ये लोग अयोग्य पाए गए।  

एनआरसी के राज्य समन्वयक की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि यह सूची नागरिकता की अनुसूची (नागरिक पंजीकरण एवं राष्ट्रीय पहचान पत्र) नियम 2003 के क्‍लाज-5 के प्रावधानों के अनुसार प्रकाशित की गई है। जिन लोगों को एनआरसी मसौदे से बाहर रखा गया है, उन्‍हें पत्र व्‍यवहार के जरिए व्यक्तिगत तौर पर सूचित किया जाएगा। ये लोग 11 जुलाई तक एनआरसी सेवा केंद्रों पर अपने दावे दर्ज करा सकते हैं।

बता दें कि असम में एनआरसी मसौदे के अपडेशन का काम सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में हो रहा है। अंतिम मसौदा 31 जुलाई को प्रकाशित होगा। एनआरसी का पहला मसौदा पिछले साल 30 जुलाई को प्रकाशित हुआ था, जिसमें 3.29 करोड़ लोगों में से 2.89 करोड़ लोगों के नाम ही शामिल किए गए थे। इस सूची में 40,70,707 लोगों के नाम नहीं थे जिनमें से 37,59,630 के नाम खारिज कर दिए गए थे जबकि शेष 2,48,077 नाम विचाराधीन थे। 

बता दें कि पिछले महीने सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने असम में एनआरसी (NRC) को अंतिम रूप देने की समय सीमा बढ़ाने से इनकार कर दिया था। सर्वोच्‍च अदालत ने निर्देश दिया कि एनआरसी से संबंधित प्रक्रिया 31 जुलाई तक या इससे पहले पूरा कर ली जानी चाहिए। यदि आपत्तिकर्ता हाजिर नहीं होता है तो एनआरसी कोआर्डिनेटर निर्धारित कानून का पालन करते हुए प्रक्रिया को आगे बढ़ाए। अदालत ने यह भी कहा कि इस प्रक्रिया में एक दिन की भी देरी नहीं की जा सकती है।  

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Krishna Bihari Singh