नई दिल्ली, प्रेट्र। पूंजी बाजार नियामक सेबी और डायरेक्टरेट आफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआइ) अदाणी ग्रुप की कुछ कंपनियों की जांच कर रहे हैं। इन कंपनियों पर नियमों के उल्लंघन का आरोप है। वित्त राज्यमंत्री पंकज चौधरी ने सोमवार को लोकसभा में यह जानकारी दी। हालांकि, उन्होंने जांच के दायरे में आई कंपनियों के नाम या उल्लंघन किए गए नियमों के प्रकार के बारे में कोई जानकारी नहीं दी। उन्होंने यह भी कहा कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ग्रुप की कंपनियों की जांच नहीं कर रहा है।

सरकार द्वारा सदन में यह जवाब दिए जाने के बाद अदाणी ग्रुप से जुड़ी छह कंपनियों के शेयर 1.1 से 4.8 फीसद तक गिरकर बंद हुए। इस बारे में अदाणी ग्रुप के प्रवक्ता ने कहा कि ग्रुप हमेशा सेबी के नियमों का अनुपालन करता रहा है और उसे हाल-फिलहाल बाजार नियामक द्वारा किसी तरह की जांच किए जाने की जानकारी नहीं है। जहां तक डीआरआइ द्वारा जांच किए जाने की बात है तो जांच एजेंसी से पांच वर्ष पहले एक कारण बताओ नोटिस मिला था। हालांकि, जांच में एजेंसी को किसी तरह की गड़बड़ी नहीं मिली थी, लेकिन इससे जुड़ा विवाद कोर्ट में विचाराधीन है।

पिछले महीने अदाणी ग्रुप की कुछ कंपनियों में बड़ा निवेश करने वाले तीन फारेन पोर्टफोलियो निवेशकों (एफपीआइ) के अकाउंट फ्रीज किए जाने की खबरों के बाद 18 जून को भी उन कंपनियों में भारी बिकवाली हुई थी। हालांकि बाद में ग्रुप ने निवेशकों के अकाउंट फ्रीज किए जाने की खबर को पूरी तरह गलत बताया था।

Edited By: Pooja Singh