अहमदाबाद, प्रेट्र। नौ करोड़ रुपये के बिटकॉइन वसूली मामले में गुजरात भाजपा के पूर्व विधायक नलिन कोटडिया को रविवार को गिरफ्तार कर लिया गया। उन्हें महाराष्ट्र के जलगांव में पकड़ा गया। यह जानकारी गुजरात सीआइडी (क्राइम) ने कोर्ट को दी। उनके खिलाफ मई में अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया था। तीन महीने पहले कोर्ट ने कोटडिया को भगोड़ा घोषित किया था।

दरअसल, सूरत के बिल्डर शैलेश भट्ट ने आरोप लगाया था कि अमरेली पुलिस ने नौ फरवरी को गांधीनगर से उसका और उसके दोस्त कीर्ती पलाडिया का अपहरण कर लिया था। इसके बाद पुलिस ने पलाडिया के पास मौजूद 9 करोड़ रुपये कीमत के बिटकॉइन अपने खाते में ट्रांसफर करा लिए। भट्ट का आरोप था कि इस साजिश के पीछे नलिन कोटडिया थे। आरोपों के बाद पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और कोटडिया के खिलाफ वसूली और अपहरण का मामला दर्ज कराया।

अमरेली के एसपी की हो चुकी है गिरफ्तारी
अमरेली के पुलिस अधीक्षक जगदीश पटेल समेत लगभग एक दर्जन से अधिक पुलिस अधिकारी अब तक इस मामले में पकड़े जा चुके हैं। कि सीआइडी ने जुलाई में मुख्य आरोपित जगदीश पटेल के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। इसके बाद उन्हें तत्काल प्रभाव से पद से हटा दिया गया था।

क्या है बिटकॉइन
बिटकॉइन एक आभासी मुद्रा है जिसका कोई भौतिक रूप नहीं होता है। इसे डिजिटली ट्रांसफर किया जाता है। केंद्र सरकार ने कहा है कि बिटकॉइन या अन्य किसी गुप्त मुद्रा को भारत में कानूनी मान्यता नहीं दी गई है।

Posted By: Ravindra Pratap Sing