जागरण ब्यूरो, नई दिल्ली। उड़ी हमले के बाद भारत के कड़े रुख को देखते हुए पाकिस्तान ने अगले महीने दिल्ली में होने वाली व्यापार प्रदर्शनी में भाग लेने का इरादा छोड़ दिया है। 'आलीशान पाकिस्तान' के नाम से होने वाली इस प्रदर्शनी का आयोजन पाकिस्तान ट्रेड डेवलपमेंट अथॉरिटी (टीडीएपी) की ओर से किया जाता है।

इसका मकसद दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय व्यापार को बढ़ावा देना रहा है। इस प्रदर्शनी रद करने की घोषणा करते हुए टीडीएपी ने कहा, 'पाकिस्तान और भारत के बीच मौजूदा हालात के मद्देनजर 2016 की प्रदर्शनी को रद करने करने का निर्णय लिया गया है।' टीडीएपी की ओर से भारत में इससे पहले दो 'आलीशान पाकिस्तान' प्रदर्शनियों का आयोजन किया जा चुका है।

इनमें पहली प्रदर्शनी 2012 और दूसरी 2014 में आयोजित हुई थी। इनके जरिये दोनों देशों के व्यापारियों और ग्राहकों को एक प्लेटफॉर्म पर लाने का प्रयास किया जाता रहा है। पिछले वित्तीय वर्ष में जुलाई-मई के दौरान भारत और पाकिस्तान के बीच 206 अरब रुपये का द्विपक्षीय व्यापार हुआ था। इसमें से 42 अरब रुपये का निर्यात पाकिस्तान की ओर से किया गया था। जबकि भारत ने पाकिस्तान को 164 अरब रुपये का निर्यात किया था।

पढ़ेंः पाक को पीएम मोदी का संदेश, हिंदुस्तान न कभी झुका है और न ही झुकेगा

Posted By: Sanjeev Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस