कोरबा, पीटीआइ। छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले में एक जंगली हाथी ने 25 वर्षीय महिला पर हमला कर दिया। इस हमले में  महिला की मौत हो गई वही उसकी पांच वर्षीय भतीजी घायल हो गई। अधिकारियों ने गुरुवार इसकी जानकारी दी है। कटघोरा वन के प्रभागीय वनाधिकारी फारुख ने बताया कि घटना बोदरापारा गांव में हुई।अधिकारी ने बताया कि हाथी ने मिट्टी से बने एक घर पर हमला किया। इस दौरान यह परिवार सो रहा था। ग्रामीण की पहचान जयकरन के रूप में हुई है। 

रात में हाथी ने किया हमला

जयकरन जैसे ही पत्नी क बचाने के लिए अपनी पत्नी चंद्रिका बाई को उठाकर लेकर जा रहा था। उसी वक्त हाथी के प्रकोप को देखते हुए उसने अपनी पत्नी को वही छोड़ दिया, जिसके चलते मौके पर भी पत्नी की मौत गई। हादसे के दौरान भागते समय मृतक महिला की भतीजी घायल हो गई, जिसका इलाज चल रहा है। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार को भी निकाला गया था, लेकिन वे अधिकारी हाल ही में अपने घर लौटे थे। 

मृतक के परिजन को 25,000 रुपये की मदद

अधिकारी ने बताया कि मृतक के परिजन को 25,000 रुपये की तत्काल राहत दी गई है। जबकि शेष 5.75 लाख रुपये का मुआवजा औपचारिकताओं के पूरा होने के बाद जारी किए जाएगा। 

 40 हाथियों के झुंड ने मचाया उत्पाद

अधिकारी ने बताया कि पिछले कुछ महीनों से 40 हाथियों का झुंड कई इलाकों में घूम रहा है। इससे बचने लिए ग्रामीणों को स्कूल और अगनबाड़ी सेंटर में शिफ्ट किया गया है। अधिकारियों ने बताया कि कर्मियों ने झुंड पर नजर रखी हुई है। साथ ही कहा कि मानव पर जंगली हाथी द्वारा हमले को रोकने के लिए उपाय किए जा रहे हैं। बता दें कि इससे पहले भी इन हाथियों के झूंड ने की घरों में हमला किया है। कोरोना संकट के समय में हाथियों के झुंझ का ये हमले जारी है। ऐसे में राज्य सरकार भी ऐसी घटनाओं को रोकने में जुटी हुई है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस