अहमदाबाद (एएनआई)। मृत्यु कब किसे आ जाए कोई बता नहीं सकता है। लेकिन आम भाषा में सभी कहते हैं कि मरने के बाद मनुष्य भगवान के पास स्वर्ग में चला जाता है। यह बात शायद बड़ों के लिए मन बहलाने वाली बात होगी, लेकिन मासूम बच्चे इस बात को सच मान लेते हैं। इसी बात को सच साबित कर दिखाया है गुजरात में बारडोली जिला प्रशासन ने। दरअसल, यहां एक श्मशान घाट बनाया गया है जिसे एयरपोर्ट के थीम डिजाइन पर तैयार किया गया है और जिसका नाम दिया गया है- 'अंतिम उड़ान मोक्ष यात्रा'

इसके मुख्य दरवाजे पर हवाई जहाज के दो विशाल रेप्लिका रखे गए हैं जिसका नाम मोक्ष एयरलाइन्स और स्वर्ग एयरलाइन्स है। दिलचस्प बात यह है कि जब भी कोई शव यहां अंतिम संस्कार के लिए लाया जाता है तो एयरपोर्ट की ही तर्ज पर अनाउंसमेंट करके उन्हें अंदर जाने के रास्ते बताकर उनका मार्गदर्शन किया जाता है। और तो और, परिजनों के सांत्वना के लिए भी संभावित इंतजाम किये गए हैं। बताया जाता है कि श्मशान शब्द काफी कटु लगता है इसलिए इसे अंतिम उड़ान मोक्ष एयरपोर्ट नाम दिया गया।

मिंढ़ोला नदी के किनारे बने इस स्थल पर 5 चितास्थल हैं जहां 3 इलेक्ट्रिक मशीनों से दाह संस्कार होता है, अंतिम संस्कार के दौरान हवाई जहाज के उड़ान भरने जैसी आवाज आती है। यहां 40 गांवों से लोग अपने परिजनों के शवों का दाह संस्कार करने आते हैं।

यह भी पढ़ें : बुलेट ट्रेन में होंगे महिलाओं और पुरुषों के अलग टॉयलेट

Posted By: Srishti Verma