मुंबई, प्रेट्र। शिरडी से एक साल में 88 से भी ज्यादा लोगों के लापता होने का मामला सामने आया है। लापता लोगों में कुछ का तो पता चल गया, लेकिन बाकी की कोई जानकारी नहीं है। इनमें ज्यादातर महिलाएं हैं जो दर्शन के लिए शिरडी पहुंची थीं। बांबे हाई कोर्ट की औरंगाबाद खंडपीठ ने इस पर संज्ञान लेते हुए पुलिस को मानव या मानव अंग तस्करी के नजरिये से मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

एक साल में 88 से ज्यादा साईंबाबा के दर्शनार्थी गुम- बांबे हाई कोर्ट

जस्टिस टीवी नालावडे व एसएम गवान्हे की पीठ ने वर्ष 2018 में मनोज कुमार की तरफ से दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए पिछले महीने यह आदेश दिया। मनोज की पत्नी वर्ष 2017 में शिरडी से लापता हो गई थी। कोर्ट ने कहा, 'एक साल में 88 से ज्यादा लोगों के गुम होने की सूचना है। इनमें ज्यादातर साईंबाबा के दर्शन के लिए शिरडी आए थे।

कोर्ट ने पुलिस को दिए जांच के आदेश

जब कोई गरीब लापता हो जाता है तो उसका परिवार असहाय हो जाता है। ज्यादातर पुलिस से शिकायत नहीं करते और शायद ही कोई मामला कोर्ट तक पहुंच पाता है।' कोर्ट ने पुलिस को मानव व मानव अंग तस्करी के नजरिये से मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

मानव व मानव अंग तस्करी में लिप्त लोगों पर कानूनसंगत कार्रवाई हो

पीठ ने कहा, 'इसलिए यह आशंका है कि रिकॉर्ड में दर्ज 88 से भी ज्यादा लोग लापता हुए हों। इस आशंका के मद्देनजर कोर्ट अहमदनगर के पुलिस अधीक्षक को मामले की जांच के लिए विशेष इकाई के गठन का आदेश देता है। साथ ही आदेश देता है कि मानव व मानव अंग तस्करी में लिप्त लोगों पर कानूनसंगत कार्रवाई की जाए।'

देश के संपन्न मंदिरों में से एक

उल्लेखनीय है कि शिरडी महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में स्थित है। यहां स्थित साईं मंदिर में देश-दुनिया के भक्त दर्शन के लिए आते हैं। यह देश के संपन्न मंदिरों में से एक है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस