नई दिल्ली, एएनआइ। देशभर में गणतंत्र दिवस परेड को उसमें दिखाई जाने वाली झांकियों के कारण काफी पसंद किया जाता है। झांकियों में भारत की विरासत और सांस्‍कृतिक झलक दिखाई देती है। लेकिन इस बार गणतंत्र दिवस परेड काफी अनोखी होने वाली है। इस बार समारोह के दौरान 5 राफेल सहित 75 लड़ाकू विमान 'अब तक के सबसे भव्य फ्लाईपास्ट' में शामिल होंगे जो आसमान से दुनिया को देश की ताकत दिखाएंगे।

17 जगुआर विमान अमृत महोत्सव के 75वें वर्ष की आकृति बनाएंगे

विंग कमांडर इंद्रनील नंदी ने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा कि भारतीय वायुसेना, थल सेना और नौसेना के विमानों सहित 75 लड़ाकू विमानों के साथ गणतंत्र दिवस परेड के दौरान राजपथ पर होने वाला यह अब तक का सबसे भव्य फ्लाईपास्ट होने जा रहा है। उन्होंने कहा कि 17 जगुआर विमान अमृत महोत्सव के 75वें वर्ष की आकृति बनाते हुए आसमान में दिखाई देंगे। यह पहली बार होगा जब नौसेना के MiG29K और P8I लड़ाकू विमान भी इस समारोह में भाग लेंगे।

कम लोग ही इस बार होंगे शामिल

राजधानी दिल्ली में कोरोना के चलते इस साल परेड में केवल 24 हजार लोगों को ही शामिल होने की अनुमति होगी। इस बार गणतंत्र दिवस उत्सव 24 के बजाय 23 जनवरी से शुरू हो रहा है, क्योंकि इस दिन नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती मनाई जाती है।

पांच मध्य एशियाई देशों से होंगे मुख्य अतिथि

इस बार पांच मध्य एशियाई देशों कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, ताजिकिस्तान, तुर्कमेनिस्तान और उज्बेकिस्तान के प्रतिनिधि गणतंत्र दिवस 2022 समारोह के मुख्य अतिथि होंगे।

Edited By: Mahen Khanna