नई दिल्ली, प्रेट्र । कैलास मानसरोवर यात्रा पर जा रहे करीब 500 भारतीय खराब मौसम की वजह से नेपाल के पहाड़ी क्षेत्रों हिल्सा और सिमिकोट में फंस गए हैं। खराब मौसम की वजह से बचाव अभियान चलाने में भी मुश्किल आ रही है।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने बताया कि करीब 50 तीर्थयात्रियों को हिल्सा से निकालकर सिमिकोट पहुंचाया गया है और करीब सौ तीर्थयात्रियों को सिमिकोट से निकालकर नेपालगंज लाया गया है। लेकिन, अभी भी हिल्सा और सिमिकोट दोनों जगह करीब 250-250 तीर्थयात्री फंसे हुए हैं। सोमवार को भी बचाव अभियान शुरू किया गया था, लेकिन खराब मौसम की वजह से इसमें बाधा आई। अभी हेलीकॉप्टर सीमित संख्या में ही उड़ान भर पा रहे हैं।

फंसे हुए भारतीय तीर्थयात्री एक प्राइवेट ट्रैवल ऑपरेटर के टूर पैकेज के तहत यात्रा पर गए हैं। स्वरूप ने बताया कि काठमांडू स्थित भारतीय दूतावास भारतीयों को वहां से निकालने के लिए नेपाल के विदेश मंत्रालय, गृह सचिव, सेना प्रमुख, सैन्य अभियानों के महानिदेशक और पुलिस अधिकारियों के साथ संपर्क में है। साथ ही भारतीय दूतावास स्थिति का जायजा लेने के लिए प्रथम सचिव (कांसूलर) प्रणव गणेश और अन्य कर्मचारियों को सिमिकोट भेज रहा है। वे वहां टूर ऑपरेटर और नेपाल सरकार की विभिन्न एजेंसियों के बीच समन्वय स्थापित करने में भी सहायता करेंगे।

प्रवक्ता ने बताया कि नेपाली अधिकारियों ने मौसम के मुताबिक हर संभव सहायता का आश्वासन दिया है। उन्होंने कहा कि जरूरी चीजों की कोई कमी नहीं है, लेकिन हर रोज अबाध रूप से नियमित उड़ान सेवा बहाल होने के बाद ही स्थिति पूरी तरह सामान्य हो पाएगी।

Posted By: Sachin Bajpai

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप