खौलते तेल में हाथ डलवा कर ली वोटरों की परीक्षा

Publish Date:Wed, 06 Feb 2013 03:00 PM (IST) | Updated Date:Wed, 06 Feb 2013 09:17 PM (IST)
खौलते तेल में हाथ डलवा कर ली वोटरों की परीक्षा
अहमदाबाद [शत्रुघ्न शर्मा]। उत्तर गुजरात में पंचायत चुनाव हारे एक उम्मीदवार ने मतदाताओं की अग्निपरीक्षा लेते हुए एक दर्जन महिलाओं समेत 40 के हाथ खौलते तेल में डलवा दिए। साबरकांठा ज

अहमदाबाद [शत्रुघ्न शर्मा]। उत्तर गुजरात में पंचायत चुनाव हारे एक उम्मीदवार ने मतदाताओं की अग्निपरीक्षा लेते हुए एक दर्जन महिलाओं समेत 40 के हाथ खौलते तेल में डलवा दिए। साबरकांठा जिले के गणेशपुरा गांव की इस घटना में सभी के हाथ बुरी तरह झुलस गए हैं। मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देश के बाद हरकत में आई पुलिस ने मुख्य आरोपी समेत दो लोगों को गिरफ्तार किया है। कांग्रेस ने यह मामला विधानसभा में उठाने की बात कही है।

गौरतलब है कि राज्य की करीब 15 सौ ग्राम पंचायतों में रविवार को वोट डाले गए थे। इसी चुनाव में दिनेश हार गया और उसे सिर्फ 394 वोट मिले। जबकि उसके प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार मेलजी परमार को 542 वोट मिले। हार से बौखलाए दिनेश परमार और उसके साथियों ने दरिया गाँव के पाथे जी मंदिर के सामने मंगलवार शाम चार दर्जन से अधिक लोगों को बुलाकर उनके हाथ खौलते तेल में हाथ डलवा दिए। इससे इन लोगों के हाथ बुरी तरह झुलस गए। हालांकि, पुलिस निरीक्षक जीजे राउल ने सिर्फ 20 लोगों के जख्मी होने की बात कही है। दिनेश किस पार्टी से जुड़ा है, अभी इसका पता नहीं चल पाया है। वैसे कांग्रेस, भाजपा और गुजरात परिवर्तन पार्टी समर्थित प्रत्याशियों ने चुनावों में भाग लिया।

बुधवार को मामला संज्ञान में आते ही मुख्यमंत्री ने आरोपियों की गिरफ्तारी के निर्देश दिए। इसके बाद पुलिस ने मुख्य आरोपी दिनेश और उसके साथी अमृत परमार को गिरफ्तार कर लिया। दोनों के खिलाफ प्रवीण परमार ने रिपोर्ट दर्ज कराई थी। साबरकांठा के पुलिस अधीक्षक चिराग करोडिया के अनुसार दिनेश ने अंधविश्वास के चलते यह कहते हुए इस घटना को अंजाम दिया कि झूठ बोलने वाले की उंगलियां जल जाएंगी। करोडिया के अनुसार गांव में अंधविश्वास की जड़ें बहुत गहरी हैं। लोगों ने खुद ही खौलते तेल में हाथ डाले और किसी को इसके लिए मजबूर नहीं किया गया।

कांग्रेस के पूर्व सांसद मधुसूदन मिस्त्री का आरोप है कि साबरकांठा में विधानसभा चुनाव में जिले की 7 में से 6 सीटें हार गई थी, इसीलिए इस मामले में उदासीनता बरत रही है। कांग्रेस विधायक महेंद्र वाघेला ने इस मामले को विधान सभा में उठाने की बात कही है। वाघेला ने पीड़ितों से मिलकर उनके लिए राज्य सरकार से मुआवजे की भी मांग की है। जबकि पूर्व गृह मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने कहा है की दोषियों के खिलाफ कार्यवाही होगी कांग्रेस बेवजह मामले को तूल दे रही है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:40 dip hands in hot oil to prove loyalty to political leader(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें